DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शारदा नदी का जलस्तर घटा, फिर शुरू हुए बचाव कार्य

शारदा नदी का जलस्तर घटा, फिर शुरू हुए बचाव कार्य

शारदा सागर डैम के पानी को कम करने के लिए एक सप्ताह पहले मुख्य फाटक को खोल दिया गया था। इससे पहले बनवसा बैराज से भी पानी छोड़ा गया था। इससे नदी का जलस्तर बढ़ गया था जिससे चल रहे बचाव कार्य सही तरह से नहीं हो पा रहे थे। जलस्तर बढ़ने के बावजूद बचाव कार्य होने पर लोगों में नाराजगी देखी जा रही थी।

इससे बचाव कार्यों को रोक दिया गया था। अब नदी का जलस्तर कम होने से बचाव कार्य फिर शुरू कर दिए गए हैं। इस समय रमनगरा क्षेत्र के स्पर संख्या 20 और 21 पर बचाव कार्य चल रहा है। शारदा नदी के कटान से बचाने के लिए हर साल भारी भरकम बजट से बचाव कार्य कराए जाते हैं। आरोप है कि इसमें खानापूरी की जाती है। इससे बरसात में नदी का जलस्तर बढ़ने पर कटान नहीं रुक पाता है जिससे किसानों के घर और जमीन फसलों सहित नदी में समा जाती है। इस साल भी शारदा नदी के कटान की रोकथाम के लिए बचाव कार्य कराए जा रहे हैं। एक सप्ताह पहले रमनगरा क्षेत्र में बाढ़ खंड की तरफ से शारदा नदी पर स्पर संख्या 20 और 21 के बीच में सीमेंट के कट्टों में रेत भरकर बचाव कार्य किया जा रहा था। लोगों का आरोप था कि नदी में पानी अधिक होने से बचाव कार्य सही ढंग से नहीं हो रहा था।

रेत भरे कट्टों को गलत तरह से लगाया जा रहा था। इससे नदी का कटान रोकना मुश्किल होने की आशंका बनी हुई थी। बचाव कार्य में हो रही खानापूरी पर हिन्दुस्तान अखबार ने ग्रामीणों की समस्या को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इससे विभागीय अधिकारियों ने कार्य को रुकवा दिया था और जलस्तर कम होने पर ही कार्य शुरू कराने की बात कही थी। बताया जाता है कि शारदा सागर डैम के पानी को कम करने के लिए खोले गए मुख्य फाटक को बंद कर दिया गया है।

इसके अलावा बनवसा बैराज से भी पानी आना बंद हो गया है। इससे शारदा नदी का जलस्तर घट गया है। नदी में पानी कम होते ही रमनगरा क्षेत्र के स्पर संख्या 20 और 21 पर बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि बचाव कार्य में पूरी तरह से नजर रखी जा रही है। शारदा नदी का जलस्तर पहले से काफी कम हो गया है। इससे बचाव कार्य शुरू करा दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Sharda river water level decreased resumed rescue work