DA Image
18 अक्तूबर, 2020|11:55|IST

अगली स्टोरी

नाइट ड्यूटी के नियम का रेल कर्मचारियों ने किया विरोध

नाइट ड्यूटी के नियम का रेल कर्मचारियों ने किया विरोध

43600 बेसिक पे मानकर नाइट ड्यूटी भुगतान के नियम को लागू किए जाने के निर्णय के विरोध में रेल विभाग के कर्मचारियों ने नाराजगी जताई है। रेल कर्मचारियों ने कैंडिल जलाकर अपना विरोध प्रदर्शित किया।

कोरोना महामारी में रेलगाड़ियों का संचालन अनवरत चलता रहा। कोरोना काल में यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने का काम किया गया। सामान को गंतव्य तक भेजने के लिए रेलगाड़ियों के पहिये चलते रहे। अब सरकार ने 43600 बेसिक मानकर नाइट ड्यूटी का नए नियम से भुगतान करने का निर्णय लिया है। इससे अधिक बेसिक वालों को किसी प्रकार का लाभ नहीं मिलेगा। उसी बेसिक के आधार पर भुगतान किया जाएगा। इस निर्णय का रेल कर्मचारियों ने जोरदार ढंग से विरोध जताया है। रेलवे स्टेशन में रेल अफसरों ने कैंडिल जलाकर अपने विरोध का इजहार किया है। रेल अफसरों का कहना है कि विभाग को अपने निर्णय पर पुर्नविचार करना चाहिए। जनवरी 2007 से रिकवरी के आदेश किए गए हैं, जिससे कर्मचारियों का काफी नुकसान होगा। इस निर्णय को वापस लिया जाना चाहिएप्। इस मौके पर धर्मेंद्र कुमार, पीके चतुर्वेदी, मंटू यादव, पीएन वर्मा, अशोक शर्मा आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rail workers opposed the rule of night duty