DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कन्याभोज के साथ नवरात्र व्रत का परायण, हवन-पूजन

कन्याभोज के साथ नवरात्र व्रत का परायण, हवन-पूजन

1 / 3मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की अराधना का नवरात्र पर्व शनिवार को अष्टमी और नवमी एक ही दिन होने से पूरा हो गया। दोनों तिथियां एक ही दिन होने से भक्तों ने घरों और मंदिरों में देवी के आठवें स्वरूप महागौरी...

कन्याभोज के साथ नवरात्र व्रत का परायण, हवन-पूजन

2 / 3मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की अराधना का नवरात्र पर्व शनिवार को अष्टमी और नवमी एक ही दिन होने से पूरा हो गया। दोनों तिथियां एक ही दिन होने से भक्तों ने घरों और मंदिरों में देवी के आठवें स्वरूप महागौरी...

कन्याभोज के साथ नवरात्र व्रत का परायण, हवन-पूजन

3 / 3मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की अराधना का नवरात्र पर्व शनिवार को अष्टमी और नवमी एक ही दिन होने से पूरा हो गया। दोनों तिथियां एक ही दिन होने से भक्तों ने घरों और मंदिरों में देवी के आठवें स्वरूप महागौरी...

PreviousNext

मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की अराधना का नवरात्र पर्व शनिवार को अष्टमी और नवमी एक ही दिन होने से पूरा हो गया। दोनों तिथियां एक ही दिन होने से भक्तों ने घरों और मंदिरों में देवी के आठवें स्वरूप महागौरी के साथ ही नौ वें स्वरूप सिद्धिदात्री की अराधना की। भक्तों ने घरों में हवन-पूजन कर देवी स्वरूप कन्याओं को भोजन कराया और उनसे मनोकमानाएं पूरी होने का आशीर्वाद लिया। इसके साथ ही उन्होंने अपने व्रत का भी परायण किया। इस अवसर पर देवी मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी।

ग्रह, नक्षत्रों के योग से इस बार चैत्र नवरात्र पर्व की अष्टमी तिथि जहां शनिवार सुबह 9.30 बजे तक रही, वहीं इसके बाद नवमी तिथि शुरू हो गई। इससे दुर्गा अष्टमी और राम नवमी एक ही दिन मान ली गई। पर ही नवमी तिथि आठ दिनों में ही पूरा हो गया। शनिवार को दुर्गा अष्टमी की छुट्टी होने से भक्तों ने पूरे इत्मिनान और भक्तिभाव से घरों में मां दुर्गा के आठवें स्वरूप महागौरी और नौ वें स्वरूप सिद्धिदात्री का अनुष्ठान किया। घरों में हवन पूजन करने के बाद कन्याओं को पूजा गया और उनको भोजन कराने के बाद उन्हें दक्षिणा देकर विदा किया। इससे पहले भक्तों ने देवी स्वरूप कन्याओं के चरण स्पर्श कर उनसे आशीर्वाद लिया। नवरात्र पर्व की यह परंपरा पूरी करने के साथ ही भक्तों ने अपने अखंड व्रत का भी परायण किया। शनिवार को अष्टमी और नवमी मनाने के लिए घरों में महिलाओं ने एक दिन पहले ही तैयारी पूरी कर ली थी। व्रत का परायण करने के लिए सुबह तड़के ही घरों में महिलाओं ने देवी का प्रसाद हलवा, पूरी तैयार किया और मां को उसका भोग लगाया।

कन्याओं को घर ले जाने की मची रही होड़

नवरात्र पर्व के अंतिम दिन देवी स्वरूप कन्याओं को अपने घर तक लाने में लोगों को खाशी मशक्कत करनी पड़ी। सुबह से ही लोग कन्याओं को खोजते रहे। एक घर से कन्याओं के निकलते ही दूसरे घर के लोग उनको अपने साथ ले जाते। यह सिलसिला दिनभर यूं ही चलता रहा। कन्याओं की टोलियां भी प्रसाद के साथ एक घर से दूसरे घर जाते रहे। कन्याओं को भी दक्षिणा पाने का लालच रहा। घरों से निकलने के बाद कन्याएं अपनी दक्षिणा की रकम को गिनती रहीं।

यशवंतरी देवी मंदिर में लगी रही कतार

अष्टमी और नवमी पर रविवार को यशवतंरी देवी मंदिर भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। यहां मां के दर्शन और पूजा अर्चना को महिला और पुरष भक्तों की लंबी कतारें लगी रही। अपनी बारी के इंतजार में भक्तों को घंटों इंतजार करना पड़ा। इस दौरान मंदिर में भक्तों के जयकारे गूंजते रहे। पूजा अर्चना के बाद भक्तों ने मंदिर में कन्याओं को भी भोजन भी कराया। मां यशवंतरी देवी मंदिर में पूजा अर्चना के साथ ही हवन भी दिनभर चलता है। बड़ी संख्या में भक्तों ने इसमें आहुति प्रदान की।

झंडी यात्रा लेकर मां यशवंतरी दरबार पहुंचे भक्त

नवरात्र के आखिरी दिन ग्रामीण क्षेत्रों ने बड़ी संख्या में झंडी यात्राएं यशवंतरी देवी मंदिर पहुंची। ग्रामीण क्षेत्रों से भक्तों का जत्था बड़ी-बड़ी झंडियों के साथ रवाना हुआ। जत्थे में महिलाएं और बच्चे भी शामिल रहे। इन जत्थों में साउंड सिस्टम से लेस वाहन भी शामिल रहे। इनमें बज रहे मां के भजनों पर सभी भक्त मस्त हो नाचते हुए मंदिर तक पहुंचे। झंडी यात्राओं का मंदिर पहुंचने का यह सिलसिला सुबह से शाम तक चलता रहा।

देवी मंदिर में लोगों ने कराया भंडारा

नवरात्र पर्व के परायण पर शनिवार को शहर के मां यशवंतरी देवी मंदिर में दिन भर भक्तों का भारी हुजूमउमड़ा रहा। यहां शहर के समृद्ध भक्तों की ओर से भंडार कराया गया। इन भंडारों में हजारों भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। मंदिर परिसर में शहर के ही मैकूलाल वीरेन्द्रनाथ हास्पीटल की ओर से भी भंडारा आयोजित किया गया। भंडारे में हास्पीटल के डा. डीएम मिश्रा, डा. रमा मिश्रा, डा. योगेन्द्र नाथ मिश्रा, राघवेन्द्र नाथ मिश्रा आदि ने भक्तों को प्रसाद ग्रहण कराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pooja of Navaratri fast with kanyabhoja havan-worship