DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पशुशाला की बुनियाद निगल कर पीपल को बनाए है निशाना

पशुशाला की बुनियाद निगल कर पीपल को बनाए है निशाना

शारदा नदी के उग्र कटान से राणाप्रतापनगर की आबादी को खतरा पैदा हो गया है। इससे पीडि़तों मे हड़कंप मचा हुआ है। ताजे भू-कटान मे पशुशाला की बुनियाद और बचाव कार्य को निगलकर पीपल के वृक्ष को निशाने पर बनाए हुए है। इससे भयभीत ग्रामीण पलायन की तैयारी करने में लगे हैं। ट्रांस क्षेत्र के राणाप्रतापनगर मे शारदा नदी के जलस्तर मे चढाव उतार के चलते भू-कटान का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजे भू-कटान में पंचदेव सिंह की पशुशाला की बुनियाद और बाढ़ खंड द्वारा फ्लड फाइटिंग के तहत रेत की लगाई गई बोरियां और स्पर के ऊपर लगी कई परकोपाइन शारदा की भेंट चढ़ गई हैं। इतना ही नहीं गांव के दक्षिणी दिशा में देवस्थान का विशाल पीपल के पेड़ को निशाना बनाए हुए है। लगातार हो रहे कटान को देखकर आबादी पर खतरा मंडराने लगा है। इससे भयभीत ग्रामीणों मे हड़कंप मचा हुआ है। बस अड्डे के निकट नंदु प्रसाद सैनी ने चक्की कारखाना हटाने में लगे हैं। इसके अलावा कई अन्य ग्रामीण सामान समेट कर सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pipal is made by swallowing the foundation of the animal