अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाजार बंदी का रहा आंशिक असर, अधिकतर दुकानें खुली

बाजार बंदी का रहा आंशिक असर, अधिकतर दुकानें खुली

एक बार फिर बाजार बंद की कोशिश बेअसर साबित हुई। पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर कांग्रेस के भारत बंद को शहर के व्यापारियों ने कोई खास तबज्जो नहीं दी। बाजार में एक-दो दुकानें भले ही कुछ समय के लिए बंद रही हों पर अधिकतर दुकानें खुली रही। बाजार बंद कराने निकले कांग्रेसियों ने व्यापारियों को फूल देकर समर्थन का आह्वान किया पर उनकी इस गांधीगिरी का व्यापारियों पर कोई असर नहीं रहा। इसके बाद कांग्रेस की ओर से राष्ट्रपति को सम्बोधित डीएम को ज्ञापन सौंपा। कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष हरप्रीत सिंह चब्बा के नेतृत्व में भारत बंद की शुरुआत गैस चौराहे से हुई। गैस चौराहे से कांग्रेस कार्यकर्ता रैली के रूप में निकलकर खुली दुकानें बंद कराई। व्यापारियों को फूल देते हुए कहा कि पेट्रोल, डीजल के बढ़े दामों के विरोध में भारत बंद में सहयोग दें। प्रदेश सचिव एवं जिला प्रभारी प्रहलाद पटेल ने कहा कि कि प्रधानमंत्री ने पेट्रोल, डीजल पर जो भाषण दिया और जो आज कर रहे हैं, उसमें जमीन-आसमान का अंतर है। प्रधानमंत्री ने देश को गुमराह किया है। इसी बढ़ोत्तरी की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री की है, जिस पर रोक लगना चाहिए। जिलाध्यक्ष हरप्रीत सिंह चब्बा ने कहा कि जिस प्रकार पेट्रोल, डीजल के बढ़ोत्तरी हो रही है। इससे ऐसा लगा रहा है कि प्रदेश और केंद्र सरकार देश को लूट कर ही मानेगी। वासुदेव ठाकुर ने कहा कि पेट्रोल, डीजल के आसमान छू रहे भाव से जनता काफी परेशान है। महंदी हसन ने कहा कि देश में लगातार बढ़े रहे दामों से लोग काफी परेशान हैं। प्रधानमंत्री ने देश में सबसे पहले नोटबंदी की, अब पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाकर लूट रहे हैं। मुनेंद्रपाल ने कहा कि पेट्रोल, डीजल के बढ़े दामों को वापस लिया जाए नहीं तो इस्तीफ दें। लखवीर सिंह लक्खा ने कहा कि भाजपा सरकार में बढ़े-बढ़े घोटाले हुए हैं उसमें कार्रवाई तो दूर जांच तक नहीं हो रही। संजय, दुजाराम, मोतीराम, नरेद्रपाल, मोहम्म्द कदीर, तवसेर सिंह, मोहम्मद आरिफ, लालराम, जानकी प्रसाद, गुरमीत सिंह, किरनपाल सिंह, निरंजन सिंह, तपन सरकार, करनजीत सिंह, नीरज, अमरीक सिंह, राधेश्याम, रविलोधी, संध्या रानी, रेनू भंडारी आदि मौजूद रहे। डीएम को सौंपा ज्ञापन : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन डीएम डॉ. अखिलेश कुमार मिश्रा को सौंपा। इसमें सरकार के भ्रटाचार को खत्म करने, पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों को कम करने की मांग की गर्ई। ज्ञापन देने वालों में प्रदेश महासचिव डॉ. अरविंद सिंह, जिलाध्यक्ष हरीश गंगवार, उपाध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद, सोहनलाल, हरीराम वर्मा प्रदेश सचिव आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Partial impact of market ban most shops open