Not to the paved road to reach the degree college - डिग्री कालेज तक पहुंचने को पक्की सड़क तक नहीं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिग्री कालेज तक पहुंचने को पक्की सड़क तक नहीं

डिग्री कालेज तक पहुंचने को पक्की सड़क तक नहीं

लापरवाही की इससे बड़ी इंतहा क्या होगी कि बिलसंडा में राजकीय महाविद्यालय हेमपुर तक जाने के लिए तीन साल बाद भी एक पक्की सड़क नहीं बन सकी। छात्रों से लेकर कालेज के प्राचार्य और प्रोफेसर सभी नहर से सटे एक ऊबड़ खाबड़ रास्ते से कालेज तक पहुंचने को बाध्य है।

मामूली बारिश में ही यह रास्ता कीचड़ में तब्दील हो जाता है। लोग गिरकर चोटिल हो जाते हैं। सही बात तो ये है कि राजकीय महाविद्यालय बनने के बाद भी यहां एक अदद सड़क न बनना कालेज के स्टाफ को भी काफी कटोचता है, मगर उनकी मजबूरी है वे क्या करें? कालेज प्रबंधन ने भी शुरू में रास्ते के लिए डीएम से लेकर सरकार तक पत्राचार किया मगर रास्ता आज तक नहीं बना। कालेज में ये तीसरा शिक्षण सत्र चालू होने वाला है। बरसात में ये रास्ता सबसे ज्यादा दिक्कत भरा है। कालेज के चारों ओर से एक से दो किमी. परिधि में मुख्य सड़क से चकमार्ग भी हैं, मगर फिर भी किसी पर पक्की सड़क नहीं बन सकी।

कालेज आने जाने वाले छात्र.छात्राओं को ये बड़ा चुभता है। कि वे पढ़ तो डिग्री कालेज में रहे हैं मगर वहां पहुंचने की एक सड़क तक नहीं है। भाजपा विधायक रामसरन वर्मा चूंकि कालेज यहां लाने से लेकर उसके निर्माण के अहम सूत्रधार रहे। कालेज निर्माण के समय उन्होंने भी यहां सड़क बनबाने की घोषणा की थी, मगर अब तक सड़क नहीं बन सकीं। कालेज के प्राचार्य डा. संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि अभी कालेज का भी निर्माण चल रहा है। रास्ता किधर से बनेगा अभी ये भी तय नहीं है। लेकिन सड़क होनी जरुर चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Not to the paved road to reach the degree college