DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैर पंजीकृत नर्सिंग होम संचालकों को जारी होगा नोटिस

गैर पंजीकृत नर्सिंग होम संचालकों को जारी होगा नोटिस

गांव में कोई घटना होने के बाद अधिकारी झोलाछाप पर तो कार्रवाई करते हैं, लेकिन शहर से लेकर तहसील में सुविधाओं के नाम पर बिना पंजीकरण के नर्सिंग होम चलाने वालों पर कार्रवाई से पीछे हट जाते है। अब जब प्रशासन का निर्देश हाबी हुआ तो गैर पंजीकृत अस्पतालों को नोटिस जारी करने की तैयारी शुरू की गई है। खास बात तो यह है कि जितने सीएमओ कार्यालय में पंजीकृत नर्सिंग होम है उससे कहीं अधिक बिना पंजीकरण के संचालित हो रहे है। नर्सिंग होम के अलावा लैब और अल्ट्रासाउंड सेंटरों की भरमार है।

बिना पंजीकरण के संचालित गायत्री नर्सिंग होम और कुसुम नर्सिंग होम को नोटिस देने के बाद अब सीएमओ को अन्य गैर पंजीकृत नर्सिंग होमों पर कार्रवाई की सुध आ गई है। सीएमओ कार्यालय में करीब 70 नर्सिंग होम, क्लीनिक, लैब और अल्ट्रासाउंड पंजीकृत है। इन पंजीकरण के अलावा काफी संख्या में बिना पंजीकृत के क्लीनिक और लैब चल रही है। यहां पर मरीजों को अच्छे डाक्टर के नाम पर ठगा जा रहा है। इसके पीछे विभाग की मिलीभगत होने के संकेत भी मिले है। शिकायतों के बाद अब ऐसे गैर पंजीकृत नर्सिंग होम को ट्रेस किया जा रहा और सूची बनाई जा रही है। इन पर कार्रवाई की तैयारी हो रही है। पहली बार सभी गैर पंजीकृत नर्सिंग होम को नोटिस जारी कर उनसे संचालन से संबंधित पत्रावली मांगी जाएगी। पत्रावली न मिलने पर कार्रवाई होगी। शहर के अलावा पूरनपुर, माधोटांडा, बीसलपुर तहसीलों में खुले आम गैर पंजीकृत नर्सिंग होम चल रहे हैं। इसमें पूरनपुर में नर्सिंग होम के साथ ही अल्ट्रासाउंड सेंटर भी शामिल है।

..

नोटिस का दिया जबाब, पंजीकरण कराने की कही बात

बिना पंजीकरण के संचालित गायत्री नर्सिंग होम और कुसुम अस्पताल को सीएमओ ने वायो मेडिकल बेस्ट मिलने पर नोटिस जारी किया था। इसमें पंजीकरण से संबंधित पत्रावली को मांगा गया था। नोटिस के बाद दोनों अस्पताल की संचालकों ने जबाब दिया है। इसमें कहा गया है कि वायो मेडिकल बेस्ट के लिए अनुबंध है और कूड़ा उसे दिया जाएगा। सीएमओ ने बताया पंजीकरण कराने के लिए दोनों अस्तताल के लोगों ने कहा है। अब तक बिना पंजीकरण के संचालन पर जुर्माना लिया जाएगा।

आयुष डाक्टरों के पंजीकरण का नहीं मिला डाटा : जिले में क्लीनिक चला रहे आयुष डाक्टरों को लेकर सीएमओ कार्यालय से आयुर्वेद यूनानी अधिकारी से पंजीकरण की सूची मांगी गई थी। यह सूची अब तक वहां से नहीं आ सकी है। सूची न आने से पंजीकरण की स्थित स्पष्ट नहीं हो पा रही।

सीएमओ डॉ. सीमा अग्रवाल ने बताया कि जिले में बिना पंजीकरण के संचालित अल्ट्रासाउंड और क्लीनिकों को नोटिस जारी किया जाएगा। इसके लिए सूची तैयार हो रही है। मौके पर भेजकर जांच भी कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Non-registered nursing home operators will be issued notice