many injured in conflict - राजपुर में प्रशासन और पब्लिक के बीच संघर्ष, कई घायल DA Image
9 दिसंबर, 2019|2:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजपुर में प्रशासन और पब्लिक के बीच संघर्ष, कई घायल

कब्जामुक्त कराई गई जमीन पर जब प्रशासन वन विभाग के साथ पुलिस टीम सहित पौधारोपण करने गया तो वहां बवाल हो गया। वन विभाग की एक छोटी सी चूक ने ग्रामीणों को उग्र होने पर मजबूर कर दिया। वन विभाग की ओर से जब फायरिंग हुई तो ग्रामीणों ने पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया। दोनों ओर से जवाबी पत्थरबाजी से अफरा तफरी मच गई। इससे कलीनगर तहसीलदार के अलावा दो पुलिस कर्मियों के चोट आई है तो गांव वालों की ओर से दो युवतियों सहित कई महिलाएं घायल हुई। गांव वालों ने वन कर्मियों पर युवतियों को बंदूक की नाल से पीटने का आरोप लगाया है। मारपीट के बाद ग्रामीण घरों में कैद हो गए तो पूरे गांव में कफ्र्यू जैसे हालात हो गए। घटना की सूचना पर एएसपी के अलावा सीओ ने गांव जाकर मौका मुआयना किया है। बहरहाल जमीन पर पौधारोपण नहीं हो सका है। टीम को काम से रोकने के लिए कुछ महिलाएं शरीर पर कैरोसिन डालकर भी आई और पीछे न हटने पर आग लगाने की धमकी दी। हमले में घायल तहसीलदार के अलावा दरोगा आौर अन्य लोगों को सीएचसी में भर्ती कराया गया है। दो की हालत नाजुक होने पर पीलीभीत रेफर किया गया है। थाना माधोटांडा क्षेत्र के गांव राजपुर ता. महराजपुर में हाल में ही वन विभाग के साथ प्रशासन ने 204 एकड़ जमीन से अवैध कब्जा हटवाया था। बुधवार रात को कुछ गांव वालों ने दोबारा कब्जा करने की नियत से उसमें जुताई शुरू कर दी थी। गुरुवार को राजस्व टीम ने गांव जाकर इसको देखा और अधिकारियों को बताया। शुक्रवार सुबह कलीनगर तहसीलदार सदानंद सरोज ने थाने की पुलिस के अलावा वन विभाग के एसडीओ केपी सिंह, रेंजर सामाजिक वानिकी संजय सक्सेना सहित कई रेंजों की टीम के साथ गांव जाकर पौधारोपण करने की योजना को बनाया। टीम साथ में जेसीबी के अलावा ट्रैक्टर को भी ले गई थी। टीम ने अपना अभियान जैसे ही शुरू किया तो महिलाएं सामने आ गई। महिलाओं ने जमीन खुद की बताकर उसमें सोयाबीन की फसल होना बताया। इस पर वन विभाग के लोग भड़क गए और गालीगलौज करने लगे। ग्रामीणों के अनुसार वन कर्मियों ने वहां खड़ी लालती देवी को धक्का दे दिया और बंदूक की बट मारकर मुंह को फोड़ दिया। यह देखकर अचानक ग्रामीण भड़क गए और टीम पर हमलावर होते हुए पत्थरबाजी शुरू कर दी। अचानक हमले से टीम संभल न सकी और जब तक कुछ समझ पाते तहसीलदार के सिर पर एक पत्थर आकर लगा तो खून निकलने लगा। जब तक बचे दूसरा पत्थर हाथ में लगा। इसी बीच जब रमनगरा के एचसीपी हेतराम और सिपाही आए तो पत्थर लगने से वह भी घायल हो गए। बचने के लिए टीम की ओर से भी पत्थरबाजी हुई और आरोप है कि तीन फायर किए गए। फायर की आवाज से ग्रामीण सहम गए और घरों में जाकर कैद हो गए। प्रशासन और पब्लिक के बीच हुए संघर्ष के चलते काफी देर तक वहां अफरा तफरी का माहौल बना रहा। ग्रामीणों के जाने के बाद ही अधिकारी खुद को संभाल सके। घटना की जानकारी होने पर एएसपी रोहित मिश्र और सीओ अनुराग दर्शन भी गांव पहुंच गए। गांव वालों से वार्ता का प्रयास किया लेकिन कोई नहीं मिल सका। बंदूक की नाल से घायल युवती को इलाज के लिए भेजा गया है। हमले में घायल तहसीलदार सदानंद सरोज, दरोगा हेतराम गंगवार, सिपाही राकेश और वन कर्मी को पूरनपुर सीएचसी में भर्ती कराया गया है। दो की हालात नाजुक होने पर पीलीभीत रेफर किया गया है। घटना के बाद मौके पर पौधारोपण नहीं हो सका और अब वन विभाग आगे की कार्रवाई कर रहा है। विधायक पुत्र के हंगामे पर ग्रामीणों का हुआ मेडिकलगांव में मारपीट के दौरान कई गांव वाले भी घायल हुए लेकिन अधिकारी और पुलिस तो सीएचसी में भर्ती करा दिए गए। गांव वालों को इलाज के लिए लाने की किसी ने सुध नहीं ली। यह मामला जब विधायक की जानकारी में आया तो उनके पुत्र ऋतुराज और प्रतिनिधि संतराम विश्वकर्मा भी सीएचसी पहुंच गए। उन्होंने एंबुलेंस से घायल ग्रामीणों को सीएचसी बुलाकर इलाज शुरू कराया। गांव वालों के इलाज में डाक्टर हीलाहवाली कर रहे थे जिसपर विधायक के पुत्र की उनसे नोकझोंक भी हुई। गांव वालों ने पुलिस, वन विभाग और राजस्व टीम पर हमला किया था। महिलाएं शरीर पर कैरोसिन डालकर आई थी और आग लगाने की तैयारी थी। गांव वालों ने टीम पर हमला कर सरकरी काम में बाधा डाली है। हमले में घायल पुलिस कर्मी और तहसीलदार को इलाज के लिए सीएचसी में भर्ती कराया गया है। इसमें मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। अनुराग दर्शन, सीओ, पूरनपुर........ गांव के बाहर ही महिलाएं झाड़ियों में छिपी बैठी थी और पहले से ही हमले की तैयारी थी। टीम के पहुंचते ही हमला बोल दिया गया। खुद को बचाने के लिए गांव वालों ने फायरिंग की बात को कहा है। हमले में वन कर्मी भी घायल हुए है। डिप्टी रेंजर आरिफ जमाल की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है।केपी सिंह, एसडीओ, टाइगर रिजर्व

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:many injured in conflict