ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश पीलीभीतरक्तवीरों के जज्बे से बच रहीं जिंदगियां

रक्तवीरों के जज्बे से बच रहीं जिंदगियां

किसी ने सही ही कहा है कि रक्त की एक एक बूंद अनमोल है। रक्तदान ऐसा दान है कि जो अनजान लोगों से गहरे और मजबूत रिश्तें बना देता है। सही वक्त पर आए लोग...

रक्तवीरों के जज्बे से बच रहीं जिंदगियां
हिन्दुस्तान टीम,पीलीभीतThu, 13 Jun 2024 04:15 PM
ऐप पर पढ़ें

पीलीभीत। किसी ने सही ही कहा है कि रक्त की एक एक बूंद अनमोल है। रक्तदान ऐसा दान है कि जो अनजान लोगों से गहरे और मजबूत रिश्तें बना देता है। सही वक्त पर आए लोग कभी कभी जिंदगी को अनमोल बना कर चले जाते हैं और अमिट छाप छोड़ जाते हैं। हालांकि जिले के रक्तकोष में रक्त की कोई कमी तो नहीं पर यहां ऐसे लोग भी है जो बिना किसी कारण आकर रक्तदान करते हैं और गुमनाम होकर चले जाते है।
बात बेसबब नहीं है। बल्कि विश्व रक्तदान दिवस से एक दिन पहले यह चर्चा इसलिए है कि जिले में कई ऐसे युवा है जो रक्तदान कर दूसरों के जीवन में रंग भरते हैं। काई साठ बार तो कोई पैतीस बार कोई छब्बीस वार रक्तदान कर चुका है। इन युवाओं का सीधा संदेश है कि रक्तदान करने से कोई व्याधि नहीं होती, अगर कोई ऐसा सोचता है तो गलत है। शहर में अजीत सिंह साठ बार, अंकुर वर्मा पैतीस बार और जिला क्षय रोग केंद्र पर सुपरवाइजर राजेश कुमार 26 बार रक्तदान कर चुके हैं।

मदद करने पहुंचते हैं तुरंत

इसके अलावा अभिषेक सिंह गोल्डी समेत तमाम लोग ऐसे हैं कि जो सोशल मीडिया पर इस कदर एक्टिव रहते है कि अगर किसी जरूरतमंद के बारे में पता चल जाए तो रक्तदान कर जीवन बचाने में मदद करने पहुंच जाते हैं। सही मायने में ऐसे लोगों के दम पर ही इंसानिया और एक दूसरे के प्रति चिंता और फिक्रर की अहमियत लोगों में बची है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।