DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2.07 लाख क्विंटल गन्ना पेर कर बंद हुई एलएच चीनी मिल

एलएच चीनी मिल का पेराई सत्र मंगलवार रात से बंद कर दिया गया। मंगलवार दोपहर बाद से ही पेराई की रफ्तार सुस्त होने लगी थी तो शहर से गन्ना वाहन भी गायब होने लगे। एलएच इस बार कैलेंडर के अनुसार 32 दिन अधिक चली है। चीनी मिल ने इस बार शासन के आदेश पर क्षमता से अधिक 2.07 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की है।

पिछले सत्र में चीनी मिल ने 165 लाख गन्ना ख्ररीद कर पेरा था।शासन के गन्ना शेष रहने तक चीनी मिलों के चलने का ऐलान होने से मिल प्रबंधन को काफी परेशानी उठानी पड़ गई थी। पूरनपुर चीनी मिल बंद होने पर वहां का गन्ना बीसलपुर और एलएच पीलीभीत को डायर्वट कर दिया गया था। दूसरी चीनी मिल का गन्ना आने से एलएच क्षमता से अधिक पेराई पर हांफ रही थी लेकिन शासन का आदेश होने के कारण वह बंद नहीं हो पा रही थी।

अपने क्षेत्र के अलावा पूरनपुर का गन्ना पेराने के बाद चीनी मिल का मंगलवार की देर रात पेराई सत्र समाप्त हो गया। इस बार चीनी मिल ने 2.07 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की है जो पछिले साल की तुलना में काफी अधिक है। बात पिछले सत्र की करे तो चीनी मिल ने 165 लाख क्विंटल गन्ना खरीद कर पेरा था और इस बार यह बढ़कर 2.07 लाख क्विंटल हो गया है।

गन्ना पर्ची कैलेंडर के अनुसार चीनी मिल 180 दिन चलना चाहिए, लेकिन इस बार यह 212 दिन चली है। खास बात तो यह है कि सात माह चलने के बाद चीनी मिल 29 अक्टूबर 17 को शुरू हुई थी और 29 मई 18 को बंद हुई है।..बीसलपुर चीनी मिल ने जारी किया बंदी का अंतिम नोटिसएलएच चीनी मिल क्षेत्र में गन्ना न होने पर वह मंगलवार की रात से बंद हो गई है। बीसलपुर क्षेत्र में गन्ना अभी होने के कारण चीनी मिल में पेराई सत्र जारी है। क्षेत्र में गन्ना की स्थित को देखते हुए चीनी मिल बंदी के दो नोटिस जारी कर चुकी है और अब अंतिम नोटिस एक जून का जारी किया है।

एलएच चीनी मिल का पेराईसत्र मंगलवार की रात को समाप्त हो गया। अभी बीसलपुर चीनी मिल चल रही है और वहां पर पूरनपुर का भी गन्ना शेष है। बीसलपुर ने एक जून का अंतिम नोटिस जारी किया है।जितेन्द्र मिश्रा, प्रभारी, जिला गन्नाधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:LH sugar mill close after 2.08 lakh quintals of sugarcane mash