DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  पीलीभीत  ›  मैलानी-पूरनपुर ब्राडगेज लाइन पर दौड़ी मालगाड़ी

पीलीभीतमैलानी-पूरनपुर ब्राडगेज लाइन पर दौड़ी मालगाड़ी

हिन्दुस्तान टीम,पीलीभीतPublished By: Newswrap
Tue, 11 May 2021 03:12 AM
मैलानी-पूरनपुर ब्राडगेज लाइन पर दौड़ी मालगाड़ी

पूरनपुर। हिन्दुस्तान संवाद

सेहरामऊ मैलानी ब्रॉडगेज रेलवे लाइन पर मालगाड़ी (बैलास्ट ट्रेन) चलाई गई। इसे देखने को भीड़ उमड़ पड़ी। इससे पूर्व पैकिंग मशीन से पटरियां दुरुस्त की गईं थीं। जल्द इस रूट पर ट्रेनें चलने की उम्मीद जताई जा रही है। इससे लोगों को डग्गामार वाहनों के सफ़र से निजात मिल सकेगी।

पूरनपुर तहसील क्षेत्र के लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। यातायात के साधनों से जूझ रहे लोगों को जल्द ब्रॉडगेज का सफर मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। लगभग 2 साल से अधिक समय से ब्रॉडगेज का कार्य चल रहा है। मैलानी से शाहगढ़ तक पटरिया बिछ चुकी हैं। पूरनपुर मैलानी ब्रॉडगेज रेलवे लाइन का काम तेजी से चल रहा है। पिछले कई दिनों से पैकिंग मशीन से पटरियों को दुरुस्त किया जा रहा है।

रविवार को बैलास्ट ट्रेन (गिट्‌टी डालने वाली ट्रेन) शुरू हो गई। रेलवे सूत्रों के मुताबिक करीब 20 दिनों में बैलास्ट डालने और पैकिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा। रेलवे द्वारा बैलास्ट ट्रेन मैलानी से शाहगढ़ ब्रॉडगेज प्रोजेक्ट को तीन फेज में चालू की जा रही है। पहले फेज में मैलानी से अकेला हंसपुर, दूसरे फेज में सेहरामऊ तक और तीसरे फेज में शाहगढ़ तक मालगाड़ी दौड़ेगी। रविवार तक दो फेज का काम पूरा हो चुका है।

-----

मैलानी पूरनपुर रेलवे लाइन पर बैलास्ट ट्रेन (गिट्टी डालने वाली ट्रेन) चलाई गई है। पैकिंग मशीन भी चलाई जा रही है। सेहरामऊ तक मालगाड़ी पहुंच चुकी है। अब इसे शाहगढ़ तक पहुंचाया जाएगा। जून माह में सीआरएस की उम्मीद है।

सुनील कुमार वर्मा

डिप्टी जीएम, निर्माण एजेंसी

--‐-----

क्रॉसिंग प्वाइंट पर बरतनी होगी सावधानी

मैलानी से पूरनपुर के बीच करीब एक दर्जन प्वाइंट ऐसे हैं, जहां ग्रामीण वाहनों से ट्रैक क्रॉस करते हैं। इस ट्रैक पर बैलास्ट ट्रेन चलाए जाने के दौरान ग्रामीणों को सावधानी बरतनी होगी।

-------

आखिरीचरण में प्रोजेक्ट का काम

मैलानी से पूरनपुर के बीच ब्रॉडगेज प्रोजेक्ट आखिरी चरण में स्टेशनों पर प्लेटफार्म बिल्डिंग का काम पूरा हो चुका है। कई जगह फिनिशिंग का काम चल रहा है। सिग्नल सिस्टम का काम भी लगभग पूरा हो चुका है।

संबंधित खबरें