अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एडेड कालेजों में फर्जीवाड़े से बाबू बने पांच दफ्तरी रिवर्ट

एडेड कालेजों में फर्जीवाड़े से बाबू बने पांच दफ्तरी रिवर्ट

माध्यमिक शिक्षा परिषद के सहायता प्राप्त कालेजों में प्रबंधक, प्रिंसिपल और डीआईओएस की मिलीभगत से हुआ प्रमोशन फर्जीवाड़ा अब सामने आया है। वर्ष 2012 से 2016 तक हुए इस फजीवाड़े से अलग-अलग कालेजों के पांच दफ्तरी प्रमोशन पाकर बाबू बन गए। प्रमोशन से वंचित एक दफ्तरी की आईजीआरएस पोर्टल पर आत्मदाह की चेतावनी से इस फर्जीवाड़े में आनन-फानन में कार्रवाई हो गई है। जांच में फर्जीवाड़े की पुष्टि होने पर डीआईओएस ने सभी प्रमोशन निरस्त करते हुए अतिरिक्त भुगतान की वसूली के आदेश कर दिए हैं।

माध्यमिक के सहायता प्राप्त कालेजों में प्रबंध समिति अपने अधिकारों का कैसा दोहन करती है यह प्रमोशन में किए गए फर्जीवाड़े से साफ होता है। बच्चों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाले इन कालेजों की बागडोर डीआईओएस के हाथों में रहती है और इस फर्जीवाड़े से उनकी नैतिकता की हकीकत भी सामने आई है। जिले के पांच सहायता प्राप्त कालेजों में वर्ष 2012 से 2016 तक यह प्रमोशन फर्जीवाड़ा हुआ। इस फर्जीवाड़े से पांच दफ्तरी प्रमोशन पाकर सहायक लिपिक बन गए। इसके लिए इन दफ्तरियों के पास निर्धारत योग्याता भी नहीं थी। प्रमोशन के लिए इन दफ्तरियों के किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से टंकण का प्रमाणपत्र होना चाहिए था। इसके साथ ही इनकी टाइपिंग की स्पीड 25 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए थी पर प्रमोशन के अभिलेखों में इसका कोई साक्ष्य नहीं मिला। इन दफ्तरियों के प्रमोशन की संस्तुति कालेज प्रबंधन की ओर से डीआईओएस को भेजी गई थी। डीआईओएस के अनुमोदन से ही यह प्रमोशन फाइनल होने थे। इस दौरान रहे डीआईओएस ने बिना जांचे परखे प्रमोशन की फाइलों पर अपना अनुमोदन कर दिया। इससे योग्य नहीं होने पर भी दफ्तरी सहायक लिपिक बन गए।

इन कालेजों के दफ्तरी बने बाबू

फर्जीवाड़े से दफ्तरियों का प्रमोशन करने वाले कालेजों में पहला नाम बीसलपुर के एसआरएम इंटर कालेज का है। अक्टूबर 2012 में इस कालेज के दफ्तरी अकरम यार खां का प्रमोशन सहायक लिपिक पद पर हुआ। इसके बाद अक्टूबर 2014 में छत्रपति शिवाजी इंटर कालेज जोगीठेर के दफ्तरी जितेन्द्र सिंह का प्रमोशन भी प्रबंध की संस्तुति और डीआईओएस के अनुमोदन से सहायक लिपिक पद पर हो गया। जनवरी 2015 में सरदार बल्लल्भ भाई पटेल उमावि अमराकरोड़ के दफ्तरी बाबूराम का प्रमोशन भी सहायक लिपिक पद पर कर दिया गया। बताया जाता है बाबूराम रिटायर भी हो गए। फरवरी 2016 में पंडित देवदत्त शर्मा जनता इंटर कालेज बरखेड़ा के दफ्तरी महेश चन्द्र मिश्रा का प्रमोशन भी सहायक लिपिक पद पर हो गया। अक्टूबर 2016 में लाल बहादुर शास्त्री इंटर कालेज चंदिया हजारा के दफ्तरी रामा शंकर मौर्य को भी प्रमोशन से बाबू बना दिया गया।

तीन डीआईओएस ने दिखाई मेहरबानी

योग्यता पूरी नहीं करने वाले दफ्तरी के प्रमोशन में तीन डीआईओएस ने मेहरबानी दिखाई। इसमें सबसे अधिक प्रमोशन प्रभारी डीआईओएस रहे रामपाल के अनुमोदन से हुए। इनके अनुमोदन से अकरम यार खां, जितेन्द्र सिंह और बाबूराम को प्रमोशन मिला। डीआईओएस एके मिश्रा के अनुमोदन से रामा शंकर मौर्य का प्रमोशन हुआ। डीआईओएस जेके वर्मा के अनुमोदन से महेश चन्द्र मिश्रा को प्रमोशन मिला।

जनता टेक्नीकल इंका के दफ्तरी की शिकायत पर हुई कार्रवाई

दफ्तरियों के प्रमोशन में फर्जीवाड़ा का खुलासा जनता टेक्नीकल इंटर कालेज के दफ्तरी धारा सिंह की शिकायत पर हुआ है। धारा सिंह ने संयुक्त शिक्षा निदेशक से इस फर्जीवाड़े की शिकायत की थी। वहां से इसकी डीआईओएस रहे आरके वर्मा को सौंपी गई। उन्होंने इस मामले की जांच कर रिपोर्ट जेडी को भेज दी थी। इसके बाद भी कार्रवाई नहीं होने पर धारा सिंह ने इस शिकायत आईजीआरएस पोर्टल की और कार्रवाई नहीं होने पर 26 सितंबर को आत्मदाह की चेतावनी दी थी। धारा सिंह की इस चेतावनी से शासन तक में खलबली मच गई और वहां से डीएम को कार्रवाई के निर्देश दिए गए। शासन से आए आदेश को डीएम ने डीआईओएस संत प्रकाश को भेज दिया। डीआईओएस ने प्रमोशन के अभिलेखों की जांच की तो सभी में फर्जीवाड़ा मिला। इस पर डीआईओएस ने सभी प्रमोशन निरस्त करने और प्रमोशन के दौरान लिए गए अतिरिक्त वेतन की वसूली के आदेश कर दिए हैं। इसके साथ ही प्रमोशन में खेल करने वाले कालेजों के प्रबंधक और प्रिंसिपल से भी स्पष्टीकरण मांगा है।

डीआईओएस संत प्रकाश का कहना है कि प्रमोशन में फर्जीवाड़ा होने की शिकायत दफ्तरी धाराजीत की ओर से आईजीआरएस पोर्टल पर की गई थी। शिकायत में कार्रवाई नहीं होने पर उसने 26 सितंबर को आत्मदाह की चेतावनी भी दी थी। शिकायत पर ही इस मामले की जांच की गई तो सभी प्रमोशन गलत पाए गए। इस पर सभी प्रमोशन निरस्त कर दिए गए हैं और वसूली का आदेश भी किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Five counter reverted made from fraud in added colleges