DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवैध भंडारण की सूचना पर डीएम ने दो राइस मिलों में मारा छापा

अवैध भंडारण की सूचना पर डीएम ने दो राइस मिलों में मारा छापा

राइस मिल में अवैध भंडारण की सूचना पर डीएम ने पूरनपुर की दो राइस मिलों में छापेमारी की। इस दौरान अधिकारियों ने मिल के गोदामों में भरे गेहूं की खरीद से सम्बंधित दस्तावेज चेक किए। डीएम के मिल में छापा मारने की सूचना से हड़कंप मच गया। इस गोपनीय कार्रवाई की सूचना स्थानीय अधिकारियों को भी नहीं दी गई थी।

पूरनपुर की राइस और फ्लोर मिलों में बड़े पैमाने पर इस बार भी गेहूं की खरीद की गई है। सस्ते दामों में किसानों की फसल खरीदने से उनको बाजिब दाम नहीं मिल सका। इसके चलते शासन का सरकारी केंद्रों पर गेहूं खरीद का लक्ष्य इस बार पूरा नहीं हो सका। सोमवार को पूरनपुर बंडा रोड पर स्थित गर्ग राइस मिल में डीएम वैभव श्रीवास्तव खुद एडीएम, एसडीएम सदर वंदना त्रिवेदी, डिप्टी आरएमओ और मंडी सचिव के साथ जा धमके। इसी राइस मिल में उनकी फ्लोर मिल और काफी बड़े गोदाम भी हैं। अधिकारियों ने मिल के गोदाम में भरे गेहूं का निरीक्षण कर उनसे सम्बंधित दस्तावेज तलब किए। भंडारण किया गया गेहूं किन किसानों का है इसके बारे में भी जानकारी की। राइस मिल में डीएम के छापेमारी करने की सूचना मिलते ही अन्य राइस मिल मालिकों में हड़कंप मच गया। गुपचुप तरीके से की गई इस कार्रवाई की भनक स्थानीय अधिकारियों को भी नहीं दी गई। छापेमारी के दौरान पूरनपुर का कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं रहा। मिल में काफी देर जांच पड़ताल करने के बाद डीएम देर शाम रवाना हो गए। मिल मालिक लक्ष्मीनरायन अग्रवाल ने बताया कि अधिकारियों को गेहूं भंडारण के लिए गोदाम और सरकारी लक्ष्य पूरा करने की जरूरत है। इसलिए डीएम ने आकर गेहूं भंडारण के लिए गोदाम किराए पर लेने की बात कही और किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं दिलवाने को भी कहा। इसके बाद डीएम ने लाव लश्कर के साथ पूरनपुर में ही एक अन्य राइस मिल जसवंती राइस मिल में भी छापा मारा।

.............

वर्जन

अभी राइस मिलों पर छापेमारी का काम कर रहा है। दोनों राइस मिलों पर छापेमारी कर जांच की जा रही है। इसके अलावा कई अन्य जगहों पर भी छापेमारी की जाएगी।

वैभव श्रीवास्तव, डीएम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DM raided two rice mills on illegal storage