DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शासन की गलती से अटकी सीएमओ की कुर्सी

शासन से जारी सीएमओ के तबादला सूची आदेश में मामूली गलती होने से पीलीभीत में सीएमओ की कुर्सी को लेकर प्रक्रिया अटक गई है। पीलीभीत में भेजी गई नई सीएमओ की तैनाती स्थल ठीक न होने से मामला अधर में लटका है और आदेश के एक सप्ताह बाद भी अभी न तो नए आ सके हैं और न पुराने यहां से गए हैं।

सीएमओ के आदेश में इस तरह की हुई चूक को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। देखना है कि संशोधन होता है या फिर अंडर ट्रांसफर्र सीएमओ ही कुर्सी पर काबिज रहते हैं।शासन स्तर से अभी एक सप्ताह पहले सीएमओ के तबादले को लेकर सूची जारी की गई थी। इसमें पीलीभीत में तीन साल से सीएमओ की कुर्सी पर काबिज डा. ओपी सिंह का भी मेरठ के जिला अस्पताल में वरिष्ठ परामर्शदाता के रूप में नई तैनाती दी गई थी।

उनके स्थान पर डा. सीमा अग्रवाल को पीलीभीत का नया सीएमओ बनाया गया था। शासन से जारी इस आदेश में नवागत सीएमओ को मुरादाबाद से यहां भेजना लिखा गया था, जबकि वह बरेली में तैनात हैं। शासन के इस आदेश में हुई भूल के कारण ही शायद एक सप्ताह के बाद भी यहां पर नवागत सीएमओ की तैनाती नहीं हो सकी और अभी पुराने सीएमओ के पास ही चार्ज बना हुआ है।

इससे पीलीभीत में सीएमओ की कुर्सी एक गलती से अटकी हुई है। इधर शासन से जारी तबादला सूची में हुई इस गलती को लेकर अस्पताल में यह अटकलें भी तेज हो गई है कि गलती से कहीं मामला अधर में न लटक जाए और नवागत सीएमओ को चार्ज ही न मिल सके। इसके अलावा चर्चा है कि जब मुरादाबाद में इस नाम की सीएमओ नहीं हैं तो यहां का चार्ज कैसे होगा।

चर्चा यहां तक है कि मौजूदा सीएमओ अब इस गलती पर अपना तबादला भी रुकवाने का प्रयास करने लगे हैं। हाल फिलहाल मामला अधर में है।

सीएचसी स्तर पर हुआ फेरबदलजहां एक ओर शासन स्तर से पीलीभीत के सीएमओ को तबादला किया गया तो स्थानीय स्तर पर सीएचसी में भी डाक्टरों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया गया। इसमें अमरिया में तैनात रहे डा. पवन कपाई को जेल अस्पताल भेजा गया तो डा. श्रीराम को बिलसंडा में प्रभारी चिकित्साधिकारी के पद पर भेजा गया। बिलसंडा में तैनात डा. रफीक पीजी की पढ़ाई के लिए विभाग द्वारा गए है। इसके अलावा पूरनपुर सीएचसी में तैनात निश्चेतक डा. कमर को बरखेड़ा भेजा गया।

अभी नई सीएमओ यहां पर नहीं आई हैं और इस कारण चार्ज नहीं दिया गया। अमरिया और बिलसंडा के डाक्टरों का कार्यक्षेत्र उनके आदेश पर ही बदला गया है। आदेश हुआ है लेकिन अभी चार्ज हुआ कि नहीं जानकारी नहीं है।डा. ओपी सिंह, सीएमओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CMO chair stuck with mistake of governance