Clash between SDM and MLA in police station - थाने में एसडीएम और विधायक में हुई झड़प DA Image
11 दिसंबर, 2019|2:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाने में एसडीएम और विधायक में हुई झड़प

थाने में एसडीएम और विधायक में हुई झड़प

बरखेड़ा के भाजपा विधायक के भांजे से मारपीट के मामले में शुक्रवार सुबह जब एसडीएम कार्यालय में तैनात कर्मचारी का नाम मुकदमे में होना बताया तो एसडीएम उक्त कर्मचारी को लेकर थाना सुनगढ़ी पहुंच गईं।

थाने में मौजूद बरखेड़ा विधायक किशनलाल राजपूत, भाजपा जिलाध्यक्ष राकेश गुप्ता समेत अन्य लोगों ने आरोपी के थाने में होने की बात कहते हुए उसकी गिरफ्तारी की मांग की। जिस पर एसडीएम ने आरोपी के घटना में शमिल न होने के पुख्ता तथ्य बताते हुए गिरफ्तारी करने पर आपत्ति जताई। इसको लेकर विधायक की एसडीएम से तीखी नोंकझोंक हुई। यह देखकर सुनगढ़ी पुलिस भी भौचक रह गई। अंत में एसडीएम कर्मचारी को अपने साथ ले गई और विधायक की खासी किरकिरी हुई।

दबिशों का दौर जारी, आरोपी फरार : घटना के बाद एसपी ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन पुलिस की टीमें गठित की है। पुलिस ने आरोपियों के घरों के अलावा सभी जानकारों के यहां भी दबिश दी लेकिन एक भी आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका। सभी आरोपी फरार चल रहे हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने अपनी स्वाट और सर्विलांस की टीमों को भी लगा रखा है।

एसपी से मिले दो विधायक और जिलाध्यक्ष : एसडीएम के थाने से आरोपी को ले जाने से भाजपा के विधायक और जिलाध्यक्ष खफा है। इसको लेकर शाम साढ़े पांच बजे बरखेड़ा विधायक किशनलाल राजपूत,बीसलपुर विधायक रामसरन वर्मा, जिलाध्यक्ष राकेश गुप्ता समेत अन्य पदाधिकारी एसपी मनोज कुमार सोनकर से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। विधायक ने स्पष्ट कहा कि इस मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। अगर पुलिस ने किसी को बचाने का प्रयास किया तो मामला सीधे मुख्यमंत्री तक जाएगा और ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने आश्वासन दिया कि पूरे मुकदमे की निष्पक्ष विवेचना कराई जाएगी और जो भी दोषी होगा,उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

विवाद की असल वजह नहीं आ पा रही सामने : बरखेड़ा विधायक के भांजे और आरोपियों के बीच हुए विवाद की असल वजह अभी तक सामने नहीं आ पा रही है। विवाद को लेकर चहुंओर अलग अलग तरह की चर्चाएं चल रही है। इस मामले में पुलिसकर्मी कुछ भी बोलने से साफ बच रहे हैं। हालांकि चर्चा है कि विवाद सब्जी लेने जाने के दौरान नहीं हुआ बल्कि किसी पुरानी रंजिश को लेकर हुआ। बताया जा रहा है कि विवाद की असली वजह से बरखेड़ा विधायक को भी गुमराह किया गया है। इधर पुलिसकर्मियों में भी आसाम चौकी पर विधायक के साथ मौजूद लोगों के आरोपी पुलिसकर्मी से अभद्रता करने पर खासा रोष पनप रहा है।

पुलिसकर्मी समेत चार नामजद और 11 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज : बरखेड़ा के भाजपा विधायक किशनलाल राजपूत के भांजे को बंधक बनाकर अपहरण कर ले जाने और मारपीट करने के मामले में सुनगढ़ी पुलिस ने देर रात पीड़ित की तहरीर पर चार नामजद समेत 11 अज्ञात के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए सिपाही समेत तीन आरोपियों का चालान कर जेल भेज दिया है। दूसरे दिन भी इस घटना की चर्चा हर किसी की जुबां पर रही। गुरुवार रात नौ बजे बरखेड़ा विधायक किशनलाल राजपूत का भांजा रिषभ शहर की वसुंधरा कॉलोनी में रहता है। वह बाजार में सब्जी लेने के लिए जा रहा था। इस दौरान डीएम के सुरक्षा स्टाफ में लगे पुलिसकर्मी मोहित गुर्जर और अन्य 15 लड़कों ने उसको मंडी समिति गेट पर घेर लिया। इसके बाद उसके साथ मारपीट करते हुए उसको कार में बैठाकर जिला अस्पताल लाए। जिला अस्पताल में उसके साथ मारपीट करने के बाद आरोपी उसको नेहरू पार्क के समीप ले गए। यहां भी उसकी बुरी तरह पिटाई की गई। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद आरोपी पुलिसकर्मी उसको आसाम रोड पुलिस चौकी ले आया। हालांकि तब तक विधायक ने एसपी समेत पुलिस अफसरों को अपने भांजे का अपहरण कर लिए जाने की सूचना दे दी गई थी। इस दौरान आसाम रोड चौकी प्रभारी अचल सिंह ने पुलिसकर्मी को पकड़ लिया जबकि उसके साथी भाग गए। जानकारी मिलने के बाद बरखेड़ा विधायक ने अपने समर्थकों के साथ आसाम रोड पुलिस चौकी पहुंचकर जमकर हंगामा काटा था। सूचना पर एएसपी समेत तीन थानों का फोर्स पुलिस चौकी पहुंचा। इसके बाद बमुश्किल विधायक को समझाबुझा कर थाना सुनगढ़ी लाए। देर रात रिषभ कर तहरीर पर थाना सुनगढ़ी में पुलिसकर्मी मोहित गुर्जर, पुनीत गंगवार,डोडो,एसडीएम कार्यालय में तैनात कर्मचारी अमित सक्सेना के खिलाफ आईपीसी की धारा 364, 395 और 307 का मुकदमा दर्ज किया गया। तहरीर में आरोप है कि उक्त आरोपियों ने उसके 22 हजार रुपये और दो तोले की सोने की चेन भी छीन ली। शुक्रवार को आरोपी सिपाही मोहित गुर्जर,निरंजन कुंज कॉलोनी निवासी पुनीत गंगवार,सुभाष नगर कॉलोनी निवासी डोडो उर्फ सनी का चालान कर जेल भेज दिया गया। एसपी ने देर रात सिपाही को निलंबित कर दिया है।

सिपाही और उसके साथियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। सिपाही का चालान कर जेल भेज दिया गया है। शेष आरोपियों की तलाश की जा रही है, जल्द ही उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी।

मनोज कुमार सोनकर, एसपी

अभी तक की कार्रवाई से हम पूरी तरह संतुष्ट हैं। पुलिस अपना काम कर रही है। हमने एसपी से मुलाकात कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कराने को कहा है। जिस पर एसपी ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

किशनलाल राजपूत, बरखेड़ा विधायक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Clash between SDM and MLA in police station