DA Image
7 मार्च, 2021|1:54|IST

अगली स्टोरी

बर्ड फ्लू: जमीन पर पड़े तड़प रहे थे कौवें, अफसर दौड़े

बर्ड फ्लू: जमीन पर पड़े तड़प रहे थे कौवें, अफसर दौड़े

पीलीभीत/बरखेड़ा। हिन्दुस्तान संवाद

जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद हर कोई दहशत में है। अगर कहीं कोई पक्षी मर जा रहा है तो बर्ड फ्लू का शोर मच जाता है। अब हर कोई पक्षियों की विशेष निगरानी कर रहा है। रविवार को शहर के अलावा बरखेड़ा क्षेत्र में एक कौआ की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई, जिसको लेकर बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही है।

पीलीभीत में रामलील रोड के पास एक गली में पेड़ के नीचे भी एक कौआ तड़पता रहा। लोगों ने जब कौवें को तड़तला देखा तो बर्ड फ्लू का शोर मच गया। आप-पास के लोगों ने अफसरों को सूचना दी। इधर बरखेड़ा कस्बे में दौलतपुर रोड पर एक निर्माधीन मकान के पास भी कौवां तड़पता हुआ पाया गया। कौवे तड़पता देख लोगों में बर्ड फ्लू की चर्चा होने लगी, जिसको दूर से लोग देखते रहे। कौवे में वर्ड फ्लू की आशंका होने पर लोगों में हड़कंप मच गया।

लोगों ने वन विभाग और पशु विभाग के अफसरों को इसकी सूचना दी। सूचना के काफी देर बाद टीम पहुंची और उसे उठाकर ले गई। रेंजर बजीर हसन ने बताया कि मौके पर टीम को भेजा था, कौवे को उठाकर ले आए और वह जिंदा है उसका इलाज कराया जा रहा है। इधर लोगों का मानना है कि कौवे कुछ देर बाद ही मौत हो गई थी।

बर्ड फ्लू के शिकार वाले पक्षी झुंड में मरते हैं। अगर कहीं एक पक्षी मरता है तो उसकी अन्य वजह होगी। ठंड के चलते भी कई पक्षियों की मौत हो रही है। फिर भी बर्ड फ्लू को लेकर सभी मरने वाले पक्षियों की सैंपलिग कराई जा रही है।

डा. अखिलेश कुमार गर्ग, सीवीओ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bird Flu Crows were suffering on the ground officers ran