DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रमनगरा की एक और महिला का नदी की भेंट चढ़ा घर

रमनगरा की एक और महिला का नदी की भेंट चढ़ा घर

बचाव कार्य में खानापूरी होने और शारदा के जमकर कटान करने से रमनगरा गांव की एक किसान का घर नदी में समा गया। नदी एक किसान के घर के पास पहुंचने से उसने अपना इंदिरा आवास तोड़ डाला। एक अन्य किसान का घर नदी अपने आगोश में लिए हुए है। भयंकर कटान होने से किसानों में दहशत फैल गई है। अनदेखी के चलते कटान पीड़ितों का दर्द और बढ़ रहा है। घर और फसलों सहित जमीन कटने से किसानों के आगे रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। अधिकारी कटान की तरफ कोई भी ध्यान नहीं दे रहे हैं।शारदा ने हल्का जलस्तर बढ़ने से रमनगरा गांव के सामने फिर कटान शुरू कर दिया है। इस बार नदी भयंकर तबाही मचाते हुए किसानों के घरों और फसलों सहित जमीनों को भी अपनी आगोश में लेकर निगलती जा रही है। नए सिरे से कटान होने से किसानों में भारी दहशत फैल गई है। नदी ने मंगलवार सुबह किसान चरणकौर का मकान अपनी आगोश में लेकर कटान शुरु कर दिया। छप्परपोश घर देखते ही देखते नदी में समा गया। इसी गांव के सामने ही नदी ने स्पर संख्या 19 और 20 के बीच बने किसान बलजोत के घर को भी अपने आगोश में ले लिया। घर नदी में समाने की वजह से उन्होंने अपना इंदिरा आवास तोड़ लिया और उसका मलवा, घरेलू सामान आदि लेकर दूसरे स्थान पर चले गए। बलजोत की मंगलवार को ही तीन बीघ फसल सहित जमीन भी नदी में समा गई। एक अन्य किसान कश्मीर सिंह का भी घर नदी ने अपने आगोश में ले लिया है। नदी के अब विकराल रूप से कटान करने से किसान घरों को अपने हाथों से उजाड़ने को मजबूर हैं।

दस दिन से नहीं हुआ कोई भी काम : कटान पीड़ितों का कहना है की करीब 10 दिन पहले नदी का जलस्तर बिल्कुल कम हो गया था। विभाग ने कोई बचाव कार्य नहीं कराया है। नदी ने तबाही मचानी शुरू की तो बचाव कार्य कराने का याद आईं। अगर उस समय बचाव कार्य हो जाता तो शायद महिला किसान का घर नदी की भेंट नहीं चढ़ता और कई किसानों के घर नदी की आगोश में आने से बच जाते।

सात फिट रह गया मार्जिनल बांध : नदी से मार्जिनल बांध की दूरी मात्र सात फिट ही रह गई है। बाढ़ खंड ने अगर बचाव कार्य तेजी से नहीं कराया तो मार्जिनल बांध के साथ साथ आबादी शारदा नदी के भेंट चढ़ जाएगी। बचाव कार्य के नाम पर केवल झाड़ी झंकाड़ डालकर खानापूरी की जा रही है। उच्चाधिकारियों के कोई ध्यान न देने से किसान उजड़ने को मजबूर हैं और बाढ़ खंड, शारदा सागर खंड के अधिकारियों की मनमानी हावी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Another woman from Ramnagar gets a river offering