ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश पीलीभीतमहिला की मौत के बाद निजी अस्पताल में छापा, गड़बड़ी मिली

महिला की मौत के बाद निजी अस्पताल में छापा, गड़बड़ी मिली

निजी अस्पताल में महिला की मौत के मामले में सीएमओ के निर्देश पर एमओआईसी ने टीम के साथ छापा मारा। छापे के दौरान अस्पताल में मौजूद स्टाफ जरूरी कागज...

महिला की मौत के बाद निजी अस्पताल में छापा, गड़बड़ी मिली
हिन्दुस्तान टीम,पीलीभीतTue, 25 Jun 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

निजी अस्पताल में महिला की मौत के मामले में सीएमओ के निर्देश पर एमओआईसी ने टीम के साथ छापा मारा। छापे के दौरान अस्पताल में मौजूद स्टाफ जरूरी कागज नहीं दिखा पाया। शाम तक का समय देते हुए स्टाफ से कागज मांगे गए हैं।
नगर में हाईवे पर स्थित सिद्धि विनायक अस्पताल एक बार फ़िर सुर्खियों में हैं। इस बार मझगवां गांव की महिला की मौत के मामले सीएमओ ने जांच के निर्देश दिये हैं। 19 जून को महिला को परिजन बिलसंडा सीएचसी लेकर गए थे। हालत गंभीर होने पर सीएचसी से डॉक्टरों ने महिला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। लेकिन सिद्धि विनायक अस्पताल का एक कथित कर्मी सीएचसी पहुंचा और रेफर महिला को अपने अस्पताल ले आया। यहां रात में महिला का उपचार हुआ, सुबह उसकी मौत हो गई। महिला की मौत के बाद अस्पताल प्रशासन ने आनन फानन में पति से लिये इलाज के लिये रुपये वापस कर दिए। पता चला है कि महिला को जो बीमारी थी अस्पताल में उसके विशेषज्ञ डॉक्टर भी नहीं हैं बाबजूद उसके इलाज और फिर मौत की शिकायत पर सीएमओ डॉ. आलोक शर्मा ने जांच के निर्देश दिए। सीएमओ के निर्देश के क्रम में अधीक्षक डॉ. मनीष शर्मा ने टीम के साथ अस्पताल में छापा मार दिया। अधीक्षक के मुताबिक मौजूद स्टाफ जरूरी अभिलेख नहीं दिखा पाया। जिन डाक्टरों ने नाम लिखे थे वो भी मौके पर नहीं मिले। न ही मृत महिला के एडमिट और उपचार का कोई रिकॉर्ड मिला। जिसके बाद अधीक्षक ने कड़ी नाराजगी जताई। स्टाफ द्वारा 2 घन्टे का समय मांगने के बाद टीम वापस लौट आई। अधीक्षक ने बताया कि सुबह फिर अस्पताल जाऊँगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।