ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश पीलीभीतबैठक में 139 आवेदन पत्रों को दी गई मंजूरी

बैठक में 139 आवेदन पत्रों को दी गई मंजूरी

कलेक्ट्रेट कार्यालय में डीएम संजय कुमर सिंह ने उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) की जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक में 139 आवेदन पत्रों को...

बैठक में 139 आवेदन पत्रों को दी गई मंजूरी
हिन्दुस्तान टीम,पीलीभीतFri, 23 Feb 2024 05:15 PM
ऐप पर पढ़ें

कलेक्ट्रेट कार्यालय में डीएम संजय कुमर सिंह ने उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) की जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक में 139 आवेदन पत्रों को मंजूरी देते हुए 40 आवेदन पत्रों की दोबारा जांच कराने के निर्देश दिए।
टास्क फोर्स समिति की बैठक में जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रगति गुप्ता ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) में कुल 179 आवेदन पत्र प्रस्तुत किए। डीएम ने 139 आवेदन पत्रों की स्वीकृति प्रदान कर 40 आवेदन पत्रों को पुनः परीक्षण के लिए निर्देशित किया डीएम ने निर्देशित किया कि इन बच्चों को आर्थिक सहायता दी जाए। सीडीओ धर्मेंद्र प्रताप सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल कल्याण समिति सदस्य एवं जिला बाल संरक्षण ईकाई का स्टाफ़ उपस्थित रहा। बता दें कि उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) के अन्तर्गत 18 वर्ष से कम आयु के ऐसे बच्चे जिन्होंने कोविड-19 से भिन्न अन्य कारणों से अपने माता-पिता दोनों अथवा माता या पिता में से किसी एक अथवा अभिभावक को खो दिया है अथवा 18 से 23 वर्ष के ऐसे किशोर जिन्होने कोविड या अन्य कारणों से अपने माता-पिता दोनों अथवा माता या पिता में से किसी एक अथवा अभिभावक को खो दिया है और वह कक्षा-12 तक शिक्षा पूर्ण करने के बाद राजकीय महाविद्यालय, विवि अथवा तकनीकी संस्थान से स्नातक डिग्री अथवा डिप्लोमा प्राप्त करने के लिए शिक्षा प्राप्त कर रहें हों अथवा जिनकी माता, तलाकशुदा स्त्री या परित्यक्ता है अथवा ऐसे बच्चे जिन्हें बाल श्रम बाल भिक्षावृत्ति/बाल वैश्यावृत्ति से मुक्त कराकर परिवार /पारिवारिक वातावरण में समायोजित कराया गया हो। ऐसे परिवारों के बच्चों को 2500 रुपये प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें