DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशरेलवे के अंडरपॉस में भरा पानी, फिर पटरियों से गुजरने की मजबूरी

रेलवे के अंडरपॉस में भरा पानी, फिर पटरियों से गुजरने की मजबूरी

हिन्दुस्तान टीम,पडरौनाNewswrap
Sat, 22 May 2021 04:20 AM
रेलवे के अंडरपॉस में भरा पानी, फिर पटरियों से गुजरने की मजबूरी

कुशीनगर। हिन्दुस्तान टीम

बुधवार की रात से गुरुवार की देर शाम तक हुई मूसलाधार बारिश के कारण कप्तानगंज-थावे रेलखंड पर बने आधा दर्जन अंडरपॉस में जलजमाव हो गया है। इसके चलते अंडरपॉस से गुजरने वाले लोगों की परेशानी बढ़ गई है। सर्वाधिक परेशानियों का सामना ग्रामीणों को उठाना पड़ रहा है। मजबूरी में ही लोग पटरियों से गुजर रहे हैं। पांच वर्ष पहले इस रेलखंड पर मानव रहित क्रासिंग की जगह अंडरपॉस का निर्माण कराया गया था। उस वक्त जलनिकासी व्यवस्था पर ध्यान ही नहीं दिया गया। इससे हल्की सी बरसात में ही पानी भर जाने से आवागमन प्रभावित हो जाता है और सैकड़ों गांवों के लोगों की परेशानी बढ़ जाती है।

पडरौना शहर से सटे सिधुवा रेलवे क्रासिंग पर बने अंडरपॉस में बुधवार की रात से हुई बारिश के बाद जलजमाव हो गया है। वैसे तो इस अंडरपॉस से लोग तभी गुजरते हैं, जब मुख्य रेलवे क्रासिंग का गेट बंद रहता है। परसौनी के रामलखन यादव, सुरेंद्र कुमार, अहिरौली के अजय दीक्षित का कहना था कि हल्की सी बरसात में ही अंडरपॉस में पानी भर जाता है। इसके चलते आवागमन बाधित हो जाता है। शिकायत के बाद भी जिम्मेदार इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं।

दुदही संवाद के अनुसार दुदही रेलवे स्टेशन से सटे पूरब और पश्चिम तरफ रेलवे क्रासिंग पर अंडरपॉस बनाए गए हैं। तीन साल पहले दुदही से पूरब बहपुरवा मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर 26 अप्रैल 2018 की सुबह स्कूली वैन की ट्रेन से हुई टक्कर में 13 बच्चों की मौत हो गई थी। इसके बाद क्रॉसिंगों पर अंडरपॉस बनाए गए। कतौरा रेल क्रासिंग पर शेड तो बना है, लेकिन जलनिकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। इसके चलते अंडरपॉस में बारिश का पानी भर गया है। अंडरपॉस के रास्ते घोगमलवा, पृथ्वीपुर, सिरजम, मठिया, कोइरी टोला, कोइलहवा समेत आधा दर्जन गांवों के लोगों का आना-जाना होता है। जलजमाव के कारण इन गांवों के लोग चार किमी की दूरी तय कर दुदही बाजार में पहुंचते हैं।

कुबेरस्थान संवाद के अनुसार कप्तानगंज-थावे रेल मार्ग पर स्थित कठकुइया रेलवे स्टेशन से चार किमी पूरब की तरफ पड़री क्रासिंग पर बने अंडरपॉस में जलजमाव के कारण ग्रामीणों को महज 300 मीटर की दूरी तय करने के लिए तीन किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ रहा है। इस अंडरपॉस से शुक्लपट्टी, पड़री, पचफेड़ा, मिश्रपट्टी आदि गांवों के लोग पडरौना-सेवरही मुख्य मार्ग से जुड़ते हैं। लेकिन हल्की बारिश में जलजमाव होने के कारण इन गांवों के लोगों की परेशानी बढ़ गई है। बदलपट्टी से गोसाईपट्टी, सोहनपुर होते हुए करीब तीन किमी की दूरी तय कर लोग मुख्य मार्ग से जुड़ रहे हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें