DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सौतेली बहनों को मासूम पर तनिक भी नहीं दिखी दया

पडरौनासौतेली बहनों को मासूम पर तनिक भी नहीं दिखी दया

हिन्दुस्तान टीम,पडरौनाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:42 AM
सौतेली बहनों को मासूम पर तनिक भी नहीं दिखी दया

सिसवा नाहर। रामप्रवेश पटेल

सौतेली बहनों ने मासूम भाई संदीप की हत्या कर भाई-बहन के रिश्ते को तो कलंकित किया ही दूसरी तरफ उसकी हत्या करने में तनिक दया भी नहीं दिखायीं। दोनों बहनों ने मौत के घाट उतारते वक्त थोड़ी सी भी रहम नहीं आयी और मासूम के आंख को भी फोड़ दी थीं। सिर पर भी बेरहमी से प्रहार किया था।

रामपुर बंगरा निवासी ललिता देवी पत्नी स्व. संजय चौहान के एक पुत्र व दो लड़कियों के सिर से बाप का साया हटने पर बच्चों के संरक्षण के शर्त पर ललिता ने इसी गांव के रामनरेश खरवार के साथ बतौर पत्नी रहने को तैयार हुई थी। मासूम संदीप जिसकी उम्र 8 वर्ष थी उसको क्या पता था कि संरक्षक पिता अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं कर सकेगा और उसी घर में उसका काल मुंह खोल बैठा हुआ है। जायदाद की लालच के लिए मासूम संदीप की हत्या लोगों को सोचने पर मजबूर कर दे रही है कि आखिर मासूम संदीप को तो अभी दुनिया की आबोहवा से तो दूर-दूर तक कोई रिश्ता नहीं था, फिर भी धन के लोभ से मासूम को मौत की नींद सोना पड़ा। मासूम संदीप की हत्या से लोगों के जेहन में एक ही सवाल कौंध रही है कि आखिर मासूम संदीप का क्या कसूर था, जो उसे मौत की नींद सुला दिया गया।

संबंधित खबरें