DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरा उतरा कुशीनगर में बना पीपीई किट
पडरौना

अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरा उतरा कुशीनगर में बना पीपीई किट

हिन्दुस्तान टीम,पडरौनाPublished By: Newswrap
Fri, 25 Jun 2021 04:33 AM
अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरा उतरा कुशीनगर में बना पीपीई किट

पडरौना। निज संवाददाता

कुशीनगर में बना पीपीई किट अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खतरा उतरा है। पिछले साल कोरोना काल की शुरुआत होने के बाद पडरौना में स्थापित एक उद्योग इकाई ने पीपीई किट को कम लागत में तैयार कर बाजार में उतारा था। इस पीपीई किट को मानकों पर खरा पाते हुए एआईएफ और एआईएस ने प्रमाणित किया है। पहले ही इस उद्योग इकाई को गिनीज बुक व लिमका बुक में दर्ज करने के लिए नामित किया गया है।

कुशीनगर जिले में यूनिफॉर्म बनाने वाली एक उद्योग इकाई ने कोरोना संक्रमण काल के दौरान महज 95 रुपये की पीपीई किट तैयार कर बाजार में उतार दिया था। कम लागत में तैयार पीपीई किट की डिमांड काफी अधिक रही। उद्योग इकाई के सुभाष अग्रवाल ने बताया कि कुशीनगर में बने पीपीई किट को देश के 19 राज्यों में पहुंचाया गया। एक लाख से अधिक आपूर्ति की गई। आईसीएमआर, बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर, कुशीनगर स्वास्थ्य विभाग, जिले के सभी स्थानीय निकायों के अलावा अन्य सरकारी संस्थाओं में भी इसी पीपीई किट का प्रयोग किया गया। उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय संस्था द्वारा प्रमाणित किए जाने से वह बेहद खुश हैं। कोरोना काल में जहां तमाम लोगों ने आपदा को अवसर में बदलने का काम किया, वहीं उनकी इकाई ने निस्वार्थ रूप से नो प्रोफिट-नो लास के तर्ज पर पीपीई किट का उत्पादन किया। इकाई की मधु अग्रवाल ने कहा कि यह सम्मान जो अंतरराष्ट्रीय संस्था ने दिया है, वह अकेले सिर्फ इकाई का नहीं है बल्कि इससे जुड़े सभी कारीगरों का है। अंकित अग्रवाल ने बताया कि कुशीनगर जिले की इकाई विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाई है। इससे जनपद के लोगों ने गौरवांवित महसूस किया है। अंतरराष्ट्रीय संस्था की ओर से इकाई को प्रमाणित किए जाने पर शहर के डॉ. संदीप अरूण श्रीवास्तव, डॉ. अजय शुक्ल, डॉ. अरूण कुमार गौतम, डॉ. रितेश जायसवाल, डॉ. राजीव गुलाटी, डॉ. त्रिलोक रंजन श्रीवास्तव, डॉ. आलोक शुक्ल, डॉ. अब्बासी, ईश्वर चौरसिया आदि ने प्रसन्नता जाहिर की है।

संबंधित खबरें