DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लगातार दूसरे दिन हुई रिमझिम बारिश, किसानों के चेहरें खिले
पडरौना

लगातार दूसरे दिन हुई रिमझिम बारिश, किसानों के चेहरें खिले

हिन्दुस्तान टीम,पडरौनाPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 04:11 AM
लगातार दूसरे दिन हुई रिमझिम बारिश, किसानों के चेहरें खिले

पडरौना। निज संवाददाता

जिले में लगातार दो दिनों से रिमझिम बारिश हो रही है। मानसून के पूर्व हो रही बरसात से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। बारिश से पूरा दिन मौसम सुहाना रहा तथा लोगों को गर्मी से राहत मिली है। बारिश के पानी से किसान धान की रोपनी शुरू कर दिये हैं तथा इस बारिश से धान का बेहन भी तेजी से बढ रहा है। मौसम में हुये बदलाव से तापमान में चार फीसदी की गिरावट हुई है। मौसम वैज्ञानिकों ने आगामी 17 जून से लेकर 22 जून के बीच में मानसून के दस्तक देने का दावा किया है। वहीं लगातार हुई बारिश से सडकों पर जल जमाव की समस्या बनी हुई है।

लगातार हो रही चिलचिलाती धूप से लोग परेशान थे, मानसून के पूर्व मौसम में हुये बदलाव से लोगों को राहत मिली है। आसमान में बादल छाने तथा रिमझिम बारिश होने से मौसम सुहाना हो गया है। इससे वातावरण में हरियाली छा गई है। रूक रूक कर हो रही बारिश से खेतों में पानी जमा हो गया है। लो लैंड की जमीनों में किसान धान की रोपनी शुरू कर दिये हैं। वहीं मौसम सुहाना होने तथा रूक रूक कर होने वाली बारिश से किसानों के खेत में तैयार हो रही धान की नर्सरी तेजी से बढ रही है। इससे किसानों के चेहरे के रौनक देखने लायक है। इस बार किसानों को धान की नर्सरी तैयार करने में किसी प्रकार की ज्यादा दिक्कत नहीं हुई है तथा किसान समय से पूर्व धान की रोपनी करने में जुट गये हैं। किसानों का कहना है कि ऐसा ही मौसम साथ दिया तो इस बार गेहूं की तरह धान की पैदावार भी बेहतर होने की उम्मीद जगी है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि यह बारिश मानसून के पूर्व का है। आगामी 17 जून से 22 जून के बीच में मानसून आयेगा तथा पूरी तरह सक्रिय होगा।

पटहेरिया चौराहे के सर्विस रोड पर हुआ जल जमाव

समउर बाजार। पटहेरवा थाना क्षेत्र के पटहेरिया चौराहे पर रविवार की शाम हुई बारिश के चलते फोरलेन के सर्विस रोड पर करीब एक फुट तक पानी जमा हो गया। दुकानदार व्यास तिवारी, सन्तोष मद्धेशिया, संजय राव, बाल्मीकि आदि का कहना है कि अगर सर्विस रोड के बगल में बने नाली की सफाई हाइवे अथॉरिटी द्वारा कराई गई होती तो सड़क पर पानी नहीं भरता। दुकानदारों ने नाली सफाई की मांग की है, जिससे कि सड़क पर बरसात का पानी जमा न हो सके।

धोबिघटवा से अमवादीगर संपर्क मार्ग बदहाल

बरवापट्टी। दुदही ब्लॉक के ग्रामीण इलाकों की सडकों का बुरा हाल है। इन जर्जर सड़कों पर वाहनों के साथ पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। धोबिघटवा से अमवादीगर जाने वाली मार्ग व अमवाखास बांध पर बनी सड़क बदहाल हैं। दोनों सडकें जगह जगह टूटकर गड्ढे में तब्दील हो गई हैं। बारिश होने पर सडक तालाब में तब्दील हो जाती हैं। रोजाना सडक में बने गढ्डों में बाइक सवार गिर कर चोटिल होते हैं।

लगातार दो दिन की हुई बारिश मानसून के पूर्व की है। तापमान में चार फीसदी की गिरावट हुई है। 17 जून से 22 जून के बीच में मानसून सक्रिय होगा।

अशोक राय, प्रभारी कृषि विज्ञान केंद्र सरगटिया

संबंधित खबरें