Vicky Rathi of 50 thousand surrendered before SSP - 50 हजार के इनामी विक्की राठी ने एसएसपी के सामने किया सरेंडर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

50 हजार के इनामी विक्की राठी ने एसएसपी के सामने किया सरेंडर

50 हजार के इनामी विक्की राठी ने एसएसपी के सामने किया सरेंडर

कुख्यात बदमाश रोहित सांडू को पुलिस कस्टडी से फरार कराने के मामले में मास्टर माइंड 50 हजार का वांछित बदमाश विक्की राठी अपने कार्यालय में जन समस्या सुन रहे एसएसपी के सामने पहुंच गया और कहा कि उसे गिरफ्तार कर लिया जाएं। उसका नाम सुनते ही एसएसपी ने पुलिस बुलाकर उसे गिरफ्तार कराया। विक्की राठी का एक साथी 25 हजार रुपए का इनामी श्रवण भी कोर्ट में सरेंडर कर जेल चला गया।

रोहित सांडू की फरारी के मामले में एक दारोगा भी बदमाशों की गोली लगने से शहीद हो गया था। पिछले माह बदमाशों ने जौनपुर जेल से पेशी पर कोर्ट में लाए गए कुख्यात बदमाश रोहित सांडू को जानसठ रोड पर सालारपुर में हाईवे के किनारे एक होटल पर खाना खाते समय फायरिंग कर पुलिस कस्टडी से मुक्त करा लिया था।इस दौरान गोली लगने से जौनपुर दारोगा की भी जान चली गई थी।

मामले में कुछ दिन बाद पुलिस ने कुख्यात रोहित सांडू व उसके एक साथी को नईमंडी थाना क्षेत्र में और दो अन्य साथियों को दौराला थाना क्षेत्र में मुठभेड़ में मार गिराया था, जबकि कुख्यात बदमाश भूपेंद्र बाफर समेत कई बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया था। उस समय बदमाशों से पूछताछ के बाद पता चला था कि रोहित सांडू को पुलिस कस्टडी से छुड़ाने की योजना तैयार की थी।

पुलिस ने विक्की राठी पर पचास हजार रुपए का इनाम घोषित किया था, जबकि उसके साथी मेरठ के सररूपुर थाना क्षेत्र के गांव पथौली निवासी श्रवण पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। पुलिस की कई टीमे विक्की राठी को खोजने में लगी हुई थी। वह पुलिस से बचता हुआ घूम रहा था। शुक्रवार 16 अगस्त को एसएसपी अभिषेक यादव जब अपने ऑफिस में बैठे लोगों की जन समस्या सुन रहे थे तो अचानक एक युवक उनके सामने आया। एसएसपी ने उससे पूछा कि बताओ क्या बात है तो युवक ने कहा कि वह सरेंडर करना चाहता है और वांछित है।

एसएसपी ने उससे पूछा कि किस मामले में वांछित है तो उसने कहा कि रोहित सांडू को फरार कराने के मामले में। इस पर एसएसपी ने उसका नाम पूछा तो उसने बताया कि वह 50 हजार का इनामी विक्की राठी है। एसएसपी ने पीआरओ को बुलाकर उसे गिरफ्तार करा दिया। विक्की राठी को डर था कि यदि वह कोर्ट में सरेंडर करेगा तो पुलिस उसे रिमांड पर लेकर कुछ बरामद कर सकती है इसलिए वह सीधा एसएसपी ऑफिस पहुंच गया। वहां का स्टाफ उसे नहीं पहचानता था, इसलिए वह एसएसपी के सामने तक पहुंच गया।

वहां लगे सीसीटीवी कैमरों में आने के कारण अब पुलिस उसकी गिरफ्तारी के समय को भी नहीं बदल सकती है। उधर, विक्की राठी के साथी 25 हजार के इनामी मेरठ के सरूरपुर थाना क्षेत्र के गांव पिथौली निवासी श्रवण ने भी कोर्ट में सरेंडर कर दिया और जेल चला गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vicky Rathi of 50 thousand surrendered before SSP