DA Image
24 नवंबर, 2020|11:43|IST

अगली स्टोरी

किसान से भैंसा-बुग्गी की सूचना से रात पर दौड़ी पुलिस

default image

शुगर मिल से गन्ना डालकर घर वापस लौटते समय फुलत मार्ग पर हुई घटना की सूचना पुलिस को देना दो किसानों को महंगा पड गया। पुलिस ने दोनों किसानों पर ही कार्रवाई कर दी। किसान ने पुलिस को बदमाशों द्वारा भैंसा-बुग्गी लूटे जाने की सूचना दी थी। जिससे पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। घटना के बाद रात भर दौडी पुलिस को भैंसा बुग्गी गांव के समीप एक खेत से मिल गई। पुलिस की कार्रवाई से ग्रामीणों में रोष बना हुआ है।

रतनपुरी थाना क्षेत्र के रायपुर नंगली गांव निवासी पृथ्वी पुत्र फेरू अपने एक साथी किसान के साथ भैंसा-बुग्गी से शुगर मिल में गन्ना डालकर वापस घर लौट रहा था। फुलत मार्ग आदर्श स्कूल के समीप दोनों किसानों की रेत खनन करने वालों से किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गई। विवाद इतना बढ गया कि दोनों में मारपीट हो गई। घटना के बाद दोनों किसान जब अपनी भैंसा-बुग्गी के पास पहुंचे तो वो गायब थी। काफी तलाश के बाद भैंसा-बुग्गी का पता न चलने पर किसान ने पुलिस को बदमाशों द्वारा भैंसा-बुग्गी लूटे जाने की सूचना दी। सूचना फलैश होते ही पुलिस प्रशासन में हडकंप मच गया। कोतवाल एचएन सिंह, सीओ आशीष प्रताप सिंह पुलिस टीम के साथ रात भर बदमाशों की तलाश में जुट गए। घंटो तलाश के बाद बदमाशों का तो पता नहीं चल पाया, लेकिन गांव के समीप एक खेत में भैंसा-बुग्गी मिल गया। भैसा-बुग्गी मिलने के बाद पुलिस ने राहत की सास तो ली, लेकिन सूचना देने वाले दोनों किसानों को पकड लिया। पुलिस का कहना था कि किसान के साथ कोई घटना नहीं हुई है, उसने पुलिस को झूठी सूचना दी थी। पुलिस ने पकडे गए दोनों किसानों का चालान कर दिया। पुलिस की कार्रवाई से ग्रामीणों में रोष बना हुआ है। कोतवाल एचएन सिंह का कहना है कि किसानों के साथ कोई लूट नहीं हुई थी। शराब के नशे में खनन वालों से कहासुनी हुई। लूट की झूठी सूचना देने पर दोनों पर कार्रवाई की गई है।

पुलिस की देखरेख में रात भर होता है खनन

हर वर्ष की तरह इस बार भी दीपावली पर्व से कुछ दिन पूर्व गंगनहर में पूरी तरह से पानी बंद हो जाता है। पानी बंद होने के बाद रेत खनन माफियाओं का राज शुरू हो जाता है। कोतवाली क्षेत्र में पिछले करीब बीस दिन से गंगनहर में रेत खनन हो रहा है। लेकिन पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। शनिवार को किसानों के साथ हुई घटना के बाद जिस तरह से पुलिस ने रेत खनन वालों का जिक्र किया है उससे साफ पता चलता है कि खनन माफिया रात भर अपने काम में जुटे रहते है। ओर पुलिस मौके पर मौजूद होने के बाद भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं करती है। पुलिस की देखरेख में ही खनन माफियां धडल्ले से अपना काम कर रहे है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police ran into the night with the information of buffalo-buggy from the farmer