DA Image
1 जुलाई, 2020|6:13|IST

अगली स्टोरी

गांव धौलड़ा में चकबंदी से असंतुष्ट कई किसानों ने दी पलायन की चेतावनी

default image

धौलरा के लगभग 50 किसानों ने अपने घर पर मकान बिकाऊ का नोटिस खुद ही चस्पा किया,गांव से पलायन करने की चेतावनी दी है। इनका आरोप है कि गांव में चल रही चकबंदी प्रक्रिया में चकबंदी अधिकारियों ने बडे किसानों के दबाव में छोटे किसानों को पीछे जमीन देकर उन्हें पानीपत खटीमा हाईवे चौडीकरण में जमीन के मुआवजे से वंचित करा दिया है।

गांव धौलरा में गांव में इस समय चकबंदी प्रक्रिया चल रही है। गांव के 50 किसानों किसानों की जमीन पानीपत खटीमा मार्ग के चौड़ी करण में आती है, जो पानीपत खटीमा मार्ग के किनारे है। आरोप है कि जो जमीन हाईवे के किनारे हैं तितावी और धौलरा के कुछ किसानों ने चकबंदी अधिकारियों से सांठगांठ करके अपने नाम करा ली। इन छोटे और गरीब किसानों को जमीन दूर दिलवा दी। इसी बात से दु:खी होकर अपने घर और जमीन बेच कर गांव से पलायन करने को मजबूर हैं। इन किसानों ने अपने घरों के गेट पर मकान बिकाऊ का नोटिस चस्पा किया। नोटिस में सत्तारूढ पार्टी के बड़े नेताओं का भी हाथ होना लिखा है। पानीपत खटीमा मार्ग का चौड़ीकरण होना है। ताकि उसका मुआवजा चार गुना जो मिलता है, मिल जाये। इसमे एक बड़े नेता के कहने पर चकबंदी अधिकारियों ने ऐसा किया है। भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय ठाकुर पुरण सिंह ने इसी बात को लेकर धौलरा में गुरुवार को एक पंचायत करने का निर्णय लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Many farmers dissatisfied with consolidation in village Dholra warn of migration