ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मुजफ्फर नगरअति पिछड़ी जाति के अधिकारों की मांग को खून से लिखा पत्र

अति पिछड़ी जाति के अधिकारों की मांग को खून से लिखा पत्र

फिशरमैन कांग्रेस के तत्वाधान में कलक्ट्रेट में अति पिछड़ी जाति के अधिकारो की मांग को लेकर धरने के 21 वे दिन राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री खून से पत्र...

अति पिछड़ी जाति के अधिकारों की मांग को खून से लिखा पत्र
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरSat, 09 Dec 2023 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

फिशरमैन कांग्रेस के तत्वाधान में कलक्ट्रेट में अति पिछड़ी जाति के अधिकारो की मांग को लेकर धरने के 21 वे दिन राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री खून से पत्र लिखा। फिशरमैन कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष देवेन्द्र कश्यप ने खून से पत्र लिखते हुए कहा कि आजादी के 76 वर्ष पश्चात भी पिछड़े वर्ग की अधिकतर जातियों की सामाजिक राजनीतिक शैक्षिक और आर्थिक स्थिति अत्यंत कमजोर है इसका सबसे बड़ा कारण 1931 के बाद पिछड़े वर्ग की जातिगत जनगणना के आंकड़े ना होना है।

वर्ष 2011 में केंद्र की यूपीए सरकार ने जनगणना में जातिगत और आर्थिक आंकड़े जुटाए, लेकिन 2014 में केंद्र में बीजेपी की सरकार आ गई। बाद में केंद्र की भाजपा सरकार ने जनगणना में पिछड़े वर्ग के जातिगत और आर्थिक आंकड़े पेश नहीं की और वर्ष 2021 में शुरू होने वाली जनगणना को भी शुरू नहीं कराया गया। मंडल अध्यक्ष समंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जी ने पिछड़े वर्ग की जातिगत जनगणना जिसकी जितनी आबादी उसका उतना हक मिलना चाहिए की मांग की और इस लड़ाई को मजबूती से लड़ने के लिए कहा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे जी ने प्रधानमंत्री जी को जाति का जनगणना कराने के लिए 16 अप्रैल 2023 को पत्र लिखा। सोनिया गांधी जी ने भाजपा द्वारा बुलाए गए विशेष सत्र में जातिगत का जनगणना पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा। धरने में मुख्य रूप से राकेश पुण्डीर,रविद्र बालियान,नरेश भारती,रामकुमार कश्यप,जगपाल कश्यप,संजीव पाल,राजकुमार कश्यप,संजीव कश्यप,मनोज कश्यप,आनन्द कश्यप,बबलू कश्यप,अफसाना अंसारी, ई सद्दाम, अरसद राणा, डॉ सद्दाम राणा,नरेन्द्र गुप्ता आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें