ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मुजफ्फर नगरखतौली हादसा : चार घंटे हाईवे पर दस किमी लंबा जाम

खतौली हादसा : चार घंटे हाईवे पर दस किमी लंबा जाम

हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रैक्टर-ट्राली हाईवे के बीचोबीच खड़ी कर दी। इससे जाम लग गया। देखते ही ग्रामीणों की भड़ एकत्रित हो गई। ग्रामीणों...

खतौली हादसा : चार घंटे हाईवे पर दस किमी लंबा जाम
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरSat, 09 Dec 2023 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रैक्टर-ट्राली हाईवे के बीचोबीच खड़ी कर दी। इससे जाम लग गया। देखते ही ग्रामीणों की भड़ एकत्रित हो गई। ग्रामीणों ने शव को नहीं उठने दिया। खतौली के अलवा मंसुरपुर थाने की पुलिस भी पहुंच गई, लेकिन ग्रामीण शंत नहीं हुए। काफी जद्दोजहद एवं आश्वासन पर लोगों को मना जाम खुलवाया, लेकिन बाद में ग्रामीणों ने भंगेला चौकी के पास जाम लगा दिया।

जाम खुलवाने के लिए पुलिस ने यहां सख्ती करते हुए लाठियां फटकार भीड़ को तितर बितर किया। इन सबके चलते करीब चार घंटे हाइवे पूरी तरह से जाम रहा। खतौली के दोनों और दस-दस किलोमीटर लंबी वाहनों की लाइन लगी रही। सीओ डॉक्टर रवि शंकर मिश्रा ने लाठी लेकर खुद ग्रामीणों से जाम खुलवाया। हालात यह रहे विरोध प्रदर्शन बंद होने के बाद भी पुलिस को यातायता सुचारू करवाने में काफी समय लगा।

घर का इकलौता चिराग बुझने पर बेहोश होकर गिर मां

घर में इकलौता चिराग बुझने के गम में मां रजनी जाम के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ी। परिजनों में बेहोश मां को उपचार के लिए डॉक्टर के पास भर्ती कराया। वहीं, मृतक के शव उठाने के दौरान पुलिस से ग्रामीणों की काफी देर तक नोक झोंक भी हुई। प्रशासनिक अधिकारियों की ओर से आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।

मृतक छात्र दादरी के स्वामी बृजनंदन इंटर कॉलेज में इंटर की पढ़ाई कर रहा था। शुक्रवार सुबह हर्ष अपने चचेरे भाई अभिषेक के साथ बाइक से खतौली ट्यूशन के लिए गया था। वापस लौटते समय हाईवे पर दोनों छात्र हादसे के शिकार हो गए। हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने जाम लगा दिया वहीं जब इकलौते बेटे हर्ष की मौत की खबर उसकी मां रजनी को मिली तो वह मौके पर पहुंची और बेटे की हालत देखकर बेहोश होकर गिर गई। ग्रामीणों ने रजनी को उठाकर उपचार के लिए डॉक्टर के पास भर्ती कराया। बताया गया कि घायल अभिषेक के पिता की एक महीने पूर्व मौत हो गई थी। अभिषेक की हालत भी गंभीर बताई गई है।

भाई की मौत से बेहाल हुई बहन

घटना के बाद परिजनों ने बताया कि मृतक छात्र पढ़ाई में काफी होशियार था। हर्ष के एक बड़ी बहन भी है जो में बीए में पढ़ रही है। भाई की मौत के गम में बहन भी बेहाल हो गई। बताया गया है कि मृतक अपनी बड़ी बहन से बहुत प्यार करता था। हर्ष की मौत के बाद मां और बहन का रो-रो कर बुरा हाल हो गया।

10 दिन में छह लोगों की हो चुकी है मौत

कोतवाली क्षेत्र में पिछले दस दिनों में छह लोगों की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो चुकी है। करीब आठ दिन पूर्व मंसूरपुर थाना क्षेत्र में बस की चपेट में आने से भाई-बहन की मौत हो गई थी, जिसको लेकर हाईवे पर काफी हंगामा भी हुआ था। चार दिन पूर्व मीरापुर रोड पर तिसंग निवासी भाई-बहन की शादी समारोह से लौट रहे थे। शादात और इलमा की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया था। उसी दिन बुढ़ाना रोड पर बड़ौत के सिरसौली निवासी खालिद की गन्ने के ट्रक के नीचे आने से मौत हुई थी। शुक्रवार को नेशनल हाईवे पर इंटर के छात्र हर्ष की मौत हुई।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें