DA Image
22 अक्तूबर, 2020|5:29|IST

अगली स्टोरी

अधिकारी सुधर जाएं नही तो इलाज कर देंगे: भाकियू

default image

भारतीय किसान यूनियन द्वारा मुजफ्फरनगर जिले की समस्त तहसीलों पर विभिन्न समस्याओं को लेकर जोरदार धरना प्रदर्शन किया गया, जिनमें मुख्य रुप से डीजल के मूल्य की वृद्धि प्रशासन द्वारा किसानों के उत्पीड़न व बिजली की समस्याओं को लेकर समस्त तहसील से संबंधित एसडीएम को ज्ञापन दिया गया।

सभी तहसीलों पर धरना प्रदर्शन सोशल डिस्टेंस के साथ किया गया।सदर तहसील मुजफ्फरनगर में मंगलवार को भाकियू जिलाध्यक्ष चौधरी धीरज लटियान व पूर्व तहसील अध्यक्ष सदर विकास शर्मा के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन किया गया। जिलाध्यक्ष चौधरी धीरज लटियान ने शासन व प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि किसान का कहीं भी शोषण होगा, तो भारतीय किसान यूनियन चुप नहीं बैठेगी और बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

धरने की अध्यक्षता चौधरी ओमपाल सिंह राठी ने संचालन चौधरी शक्ति सिंह जिला मीडिया प्रभारी ने किया। इसके अलावा नवीन राठी मंडल महासचिव, जहीर फारुखी प्रदेश महासचिव, सतेंदर ठाकुर युवा जिलाध्यक्ष मुजफ्फरनगर आदि ने भी अपने विचार रखे व शाहिद आलम वसीम खान, मुनाजिर पहलवान, राजू पिन्ना, कुलदीप सरोया, पीयूष पंवार, माजिद राणा, शादाब राणा, अनीस राणा, कुशल वीर सिंह, मांगेराम त्यागी, अंकित चौधरी, दीपक बालियान, कपिल, अंसारी मोहब्बत अली शेरपुर, सलीम अंसारी, हाजी अलीमुद्दीन, विकास सैनी मौजूद रहे।

खतौली में भाकियू ने एसडीएम सीओ को अपने बीच बैठाया

भाकियू मंडल महासचिव राजू अहलावत के नेत्तृव में किसानों ने तहसील में धरना प्रदर्शन किया। घंटे चले प्रदर्शन के बाद मौके पर पहुंचे एसडीएम इन्द्राकांत द्विवेदी, सीओ आशीष प्रताप सिंह को किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर ज्ञापन दिया। दोनों अधिकारियों को भाकियू कार्यकर्ताओं ने अपने बीच बैठा लिया।

राजू अहलावत ने कहा कि डीजल के बढते दामों का सीधा असर किसानों पर पड रहा है। मजदूर प्रभावति हो रहे है। डीजल, पेट्रोल पर लगाए गए टैक्स को कम किया जाए। बिजली की दरों में कमी की जाए। किसानों को 16 घंटे बिजली दी जाए, ताकि किसान की फसल को पानी समय से मिल सके।

अधिकारियों ने समस्याओं का समाधान जल्द कराए जाने का आष्वासन दिया है। इस दौरान पूर्व ब्लाक अध्यक्ष कपिल सोम, मनोज सहरावत, भरतवीर आर्य आदि मौजूद रहे। भाकियू ने तहसील में किया धरना-प्रदर्शन--बुढाना में किसानों का जोरदार प्रदर्शन बुढ़ाना।

भाकियू के तहसील अध्यक्ष अनुज बालियान के नेतृत्व में किसानों ने बढ़ते तेल व बिजली के दामों, भ्र्ष्टाचार, गन्ने के बकाया भुगतान सहित एक दर्जन मांगों को लेकर तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन किया। धरने को संबोधित करते हुए अनुज बालियान ने कहा कि प्रदेश का किसान नगदी के संकट से जूझ रहा है। जिसका प्रभाव खरीफ की बुवाई पर पड़ रहा है। कोविड-19 के चलते लॉक डाउन के कारण किसानों को भारी नुकसान हुआ है।

जिसकी भरपाई के लिए सरकार ने कोई सीधी सहायता किसान को नही दी है। प्रदेश सरकार द्वारा डीजल व पेट्रोल पर लगाए गए भारी टेक्स ने किसान की कमर तोड़ कर रख दी है। प्रदेश में पुलिस उत्पीड़न भी चरम सीमा पर है। धरने पर ब्लाक अध्यक्ष संजीव पंवार, नीटू दुलहरा, जितेन्द्र मलिक, ओमपाल मलिक, डीपी बैसला, मेहराजुद्दीन, हाजी नसीम, बिजेन्द्र राठी, तिजारत अली, विकास त्यागी, आशाराम, सत्यप्रकाश शर्मा आदि मौजूद रहे।डीजल पेट्रोल में की गई वृद्धि के विरोध में भाकियू का प्रदर्शन जानसठ।

भाकियू कार्यकर्ताओं ने एसडीएम कार्यालय पर तहसील अध्यक्ष अशोक घटायन एवं मास्टर महकार सिंह के नेतृत्व में सरकार द्वारा डीजल पेट्रोल में की गई वृद्धि व पुलिस उत्पीड़न बिजली की दरों सहित 12 मांगों को लेकर तहसील में कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन किया।

यूनियन के तहसील अध्यक्ष अशोक घटायन ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकारों द्वारा डीजल पेट्रोल में की गई वृद्धि ने किसानों की कमर तोड़ कर रख दी है। प्रदेश का किसान नगदी के भारी संकट से जूझ रहा है ऐसे में तेलों में की गई वृद्धि के कारण किसानों की खरीफ की बुवाई प्रभावित हो रही है। मास्टर महकार सिंह ने निजी नलकूप का ब्याज व पेनल्टी दो माह की छूट करने की मांग की।

किसानों ने एक 12 सूत्रीय ज्ञापन प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम कुलदीप मीणा को दिया। धरने पर विपिन मेहदियान सतीश रायल, मोरना ब्लॉक अध्यक्ष विकास ,योगेश शर्मा, चुडियाला प्रधान आलोक गोयल, मदन गोपाल सैनी, ओम प्रकाश शर्मा, खालिद गुज्जर ,जाकिर ठेकेदार , चंचल चौधरी ,सेंसर पाल, शिवकुमार शर्मा ,कामिल आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:If the officials do not improve they will cure you Bakiu