DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान के पार, बाढ़ चौकियां अलर्ट

गंगा बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान के पार, बाढ़ चौकियां अलर्ट

1 / 2रामराज के गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिन्दु 219 मीटर से ऊपर पहुच गया। गंगा में अत्याधिक सिल्ट आ जाने से मध्य गंगानहर नहर को बन्द कर गंगा बैराज के सभी गेट खोल दिये गए है। तथा प्रशासन ने...

गंगा बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान के पार, बाढ़ चौकियां अलर्ट

2 / 2रामराज के गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिन्दु 219 मीटर से ऊपर पहुच गया। गंगा में अत्याधिक सिल्ट आ जाने से मध्य गंगानहर नहर को बन्द कर गंगा बैराज के सभी गेट खोल दिये गए है। तथा प्रशासन ने...

PreviousNext

रामराज के गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिन्दु 219 मीटर से ऊपर पहुच गया। गंगा में अत्याधिक सिल्ट आ जाने से मध्य गंगानहर नहर को बन्द कर गंगा बैराज के सभी गेट खोल दिये गए है। तथा प्रशासन ने रामराज क्षेत्र में सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया।

शिवालिक की पहाड़ियों व मैदानी क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से हो रही लगातार वर्षा से जहा किसानों के चेहरे खिले हुए है। वही वर्षा के पानी से गंगा का जलस्तर भी बढ़ना शुरू हो गया जिससे सिचाई विभाग के साथ-साथ गंगा के निकट रहने व खेती करने वाले ग्रामीणों और किसानों की चिन्ता बढ़ने लगी है।

सोमवार को रामराज के मध्य गंगा बैराज पर स्थित बैराज कन्ट्रोल रूम पर सिंचाई विभाग के अवर अभियन्ता पीयूष कुमार ने अपनी टीम के साथ बैराज जलाशय का जलस्तर 221.50 मीटर व बैराज के डाउन स्ट्रीम में नदी का जलस्तर चेतावनी बिन्दु 219 मीटर की माप दर्ज की जबकि गंगा बैराज से डाउन स्ट्रीम में गंगा नदी का निस्सारण 122452 क्यूसेक छोड़ा जा रहा है तथा गंगा के पानी मे अत्याधिक सिल्ट आ जाने के कारण मध्यगंगा नहर को बन्द कर दिया गया है व गंगा बैराज से पानी के निस्सारण के लिए सभी गेट खोल दिये गए है।

वहीं हरिद्वार बैराज से सुबह गंगा में 85169 क्यूसेक जल छोड़ा गया। जो देर शाम तक गंगा बैराज पर पहुचेगा। गंगा के बढे जलस्तर से खादर क्षेत्र में भूगर्भ से निकले चोये के पानी से खादर क्षेत्र की फसलें भी जलमग्न हो गयी। गंगा में निरन्तर बढ़ रहे जलस्तर से सिचाई विभाग की चिन्ता बड़ी हुई है। और अधिकारी बैराज कन्ट्रोल रूम पर बार-बार पानी की स्थिति का जायजा ले रहे है।

प्रशासन द्वारा भी सुरक्षा की दृष्टि से रामराज क्षेत्र की सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट जारी कर बाढ़ चौकियों पर लेखपालों को नियुक्त कर दिया। तथा चिकित्सा विभाग को भी अलर्ट जारी कर गंगा के किनारे खेती करने व रहने वाले किसानों व ग्रामीणों को गंगा से दूर रहने व रात्रि के समय गंगा के किनारे न जाने की अपील की है।

सिचाई विभाग के अवर अभियन्ता पीयूष कुमार का कहना है कि गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिन्दु 219 मीटर पर चल रहा व बरसात के मौसम में पानी की घटत-बढ़त होती रहती है फिलहाल स्थिति काबू में है।

एसडीएम जानसठ का कहना है। कि गंगा के बढ़ रहे जलस्तर को देखकर सुरक्षा की दृष्टि से सभी बाढ़ चौकियों के अलावा चिकित्सा विभाग को अलर्ट जारी कर आपदा से निपटने से इंतजाम किये गए है। संबंधित लेखपाल बार-बार पानी का जायजा ले रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Flood surveillance alert across the water level danger mark on Ganga Barrage