ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश मुजफ्फर नगरसिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे खादर के किसान

सिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे खादर के किसान

सिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे खादर के किसान

सिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे खादर के किसान
default image
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरMon, 17 Jun 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

शुकतीर्थ में गंगा स्नान के लिए उत्तराखंड से सोलानी नदी में पानी छोड़े जाने के बाद सिंचाई विभाग की कारगुजारी की भी पोल खुल गई है। गंगा दशहरा पर्व पर शुकतीर्थ के लिए पांच दिन पूर्व सोलानी नदी में पानी छोड़े जाने के बाद पुरकाजी व भोपा खादर क्षेत्र के अलमावाला गांव से आगे कान्हावाली, बख्शीराम, शाहदरा आदि कई गांवों के पास सिंचाई विभाग द्वारा नदी की कथित खुदाई के कारण अटा होने से कई गांवों के जंगलों में नदी का पानी भर गया है।

बता दें कि प्रतिवर्ष बरसात में सोलानी नदी उफान पर आने से खादर क्षेत्र के दर्जनों गांवों के किसानों को बाढ का दंश झेलना पड़ता है। सात वर्ष पूर्व ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग रखी थी कि यदि सोलानी नदी की खुदाई व सफाई प्रतिवर्ष ठीक प्रकार से हो जाए तो खादर की सोलानी नदी में बाढ की विभीषका निजात मिल सकती है। तत्कालीन डीएम के आदेश पर सिंचाई विभाग ने सोलानी नदी की खुदाई का बीड़ा उठाया था लेकिन धीरे-धीरे नाममात्र की सफाई व खुदाई दिखाकर सरकारी धन के दुरूप्रयोग का धंधा शुरू हो गया। अभी गंगा दशहरा पर्व शुकतीर्थ के लिए पांच दिन पूर्व सोलानी नदी में पानी छोड़े जाने के बाद पुरकाजी व भोपा खादर क्षेत्र के कई गांवों के जंगलों में नदी का पानी भर गया है। अलमावाला गांव के पूर्व प्रधान बिजेन्द्र सिंह समेत क्षेत्र के किसानों का कहना है कि सिंचाई विभाग की घोर लापरवाही के चलते नदी की खुदाई ठीक न होने से उन पर प्राकृतिक आपदा आई है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।