ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश मुजफ्फर नगरशहरी क्षेत्र बढ़ने पर भी एमआरएफ सेंटर बनाने को नहीं मिल रही भूमि

शहरी क्षेत्र बढ़ने पर भी एमआरएफ सेंटर बनाने को नहीं मिल रही भूमि

शहरी क्षेत्र बढ़ने के बाद भी नगर पालिका को एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए भूमि नहीं मिल रही है। जबकि शहरी क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर नगर पालिका की...

शहरी क्षेत्र बढ़ने पर भी एमआरएफ सेंटर बनाने को नहीं मिल रही भूमि
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरFri, 08 Dec 2023 11:55 PM
ऐप पर पढ़ें

शहरी क्षेत्र बढ़ने के बाद भी नगर पालिका को एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए भूमि नहीं मिल रही है। जबकि शहरी क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर नगर पालिका की भूमि पर अवैध रूप से कब्जे हो रहे है। नगर पालिका उक्त भूमि को कब्जा मुक्त नहीं करा पायी है। इस संबंध में कई केस कोर्ट में चल रहे है। नगर पालिका को तीन एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए भूमि की तलाश है। इसके लिए शासन स्तर से धनराशि भी आयी हुई है।

शासन स्तर से शहरी क्षेत्र में पांच एमआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर बनाने के निर्देश नगर पालिका को दिए हुए है। प्रत्येक एमआरएफ सेंटर पर करीब 33 लाख रुपए की धनराशि खर्च होगी। शासन स्तर से उक्त धनराशि भी नगर पालिका को प्राप्त हो गई है। नगर पालिका शहरी क्षेत्र में अभी तक एक एमआरएफ सेंटर बना पायी है। रूडकी चुंगी के समीप नगर पालिका ने एक एमआरएफ सेंटर बनाया है। यह एमआरएफ सेंटर बनकर तैयार हो गया है। यहां पर दो कमरे, शौचालय, टीनशेड आदि निर्माण कार्य कराया गया है। अब नगर पालिका को दूसरा एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए नई मंडी के कूकडा में भूमि मिल गई है। नगर पालिका यहां पर करीब एक हजार वर्ग मीटर भूमि पर एमआरएफ सेंटर बनाएगी। इसके लिए नगर पालिका करीब 33 लाख रुपए की धनराशि खर्च करेंगी। एमआरएफ सेंटर में कम्पोस्ट खाद भी बनायी जाएगी। इसके कूडे के साथ आने वाली प्लास्टिक, लोहे का सामान, प्लास्टिक की बोतल आदि को अलग किया जाएगा। इसके बाद इसकी नीलामी कराई जाएगी। जिससे पालिका की आय में बाढोत्तरी होगी। यहां पर एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए बाउंडी कराई जाएगी। टीन शेड के नीचे कूडा री साइकिलिग के लिए चार स्थान बनाए जाएगे। शेष तीन एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए नगर पालिका को भूमि नहीं मिल रही है। जबकि शहरी क्षेत्र में 11 गांव शामिल हुए है। फिर भी नगर पालिका को एमआरएफ सेंटर के निर्माण के लिए भूमि नहीं मिल रही है।

“तीन एमआरएफ सेंटर के निर्माण के लिए भूमि की तलाश की जा रही है। इस संबंध में एसडीएम सदर को पत्र भेजा हुआ है। भूमि मिलने पर तीन एमआरएफ सेंटर बनाए जाएगे। फिलहाल कूकडा में एमआरएफ सेंटर बनाने के लिए भूमि मिली है। वहीं रूडकी रोड पर एमआरएफ सेंटर बनकर तैयार हो चुका है।”

अखंड प्रताप सिंह, एई निर्माण नगर पालिका

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें