DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मुजफ्फर नगर  ›  बुढ़ाना डाकघर जर्जर हालत में, कभी भी हो सकता है हादसा
मुजफ्फर नगर

बुढ़ाना डाकघर जर्जर हालत में, कभी भी हो सकता है हादसा

हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 07:40 PM
बुढ़ाना डाकघर जर्जर हालत में, कभी भी हो सकता है हादसा

कस्बे के बड़ा बाजार में स्थित मुख्य डाकघर के भवन का जर्जर हालत में पहुंच चुका है। जिसके चलते कभी भी कोई बड़ा हादसा होने का अंदेशा बना रहता है। मानसून की पहली ही बारिश से डाकघर का सामान भीग गया।

कस्बे के बड़े डाकघर का निर्माण ब्रिटिश शासन काल में वर्ष 1920 में किया गया था। सौ साल से ऊपर हो जाने के कारण बिल्डिंग जर्जर हालत में पहुंच चुकी है, लेकिन मुख्य डाकघर का संचालन अभी भी इसी भवन में किया जा रहा है। पुराने जर्जर भवन में बैठकर कर्मचारी काम करने को विवश हैं। कर्मचारियों ने बताया कि इस भवन में बैठकर काम करने के दौरान हमेशा डर बना रहता है कि कब दुर्घटना हो जाए। कर्मचारियों ने बताया कि 100 वर्ष पुराने इस भवन की दीवारें पूरी तरह से खराब हो चुकी हैं। इससे हर समय दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। विगत वर्षों में समय समय पर आए हल्के से भूकंप के कारण पुरानी दीवारें दरकती रहती हैं। जिससे और भी खतरा बढ़ गया है। सन 1920 में ब्रिटिश शासन काल में बुढ़ाना कस्बे के बड़ा बाजार में डाकघर चालू किया गया था। डाकघर के बढ़ते कामकाज को देखते हुए विभाग द्वारा भवन के निर्माण को लेकर आज तक कोई पहल नहीं की गई। जिसका परिणाम ये है कि डाकघर में कामकाज की अधिकता होने के साथ ही डाकघर में काम कर रहे कर्मचारियों में बिल्डिंग कब गिर जाए, इसको लेकर डर है। कर्मचारियों में नाराजगी है। लेकिन स्थानीय डाक विभाग के उच्चअधिकारी शायद किसी बड़ी घटना का इंतजार में हैं। गुरुवार को मानसून की पहली ही बारिश से डाकघर की छतें टपकने लगी थी। यहां काम कर रहे सभी कर्मचारियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है।

संबंधित खबरें