DA Image
29 नवंबर, 2020|10:00|IST

अगली स्टोरी

बिजली बिल घोटाले में सबूत खत्म करने का प्रयास

default image

पावर कारपोरेशन के डिविजन तृतीय में हुए बिजली बिल घोटाले में दोषी संविदाकर्मचारियों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है, लेकिन अब विभाग में दोष खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। कुछ बाहरी लोगों का कार्यालय में पूरा हस्तक्षेप है और वे आरोपी संविदा कर्मचारियों को बचाने के लिए सबूतों को खत्म करने में लगे हुए है। इस पूरे प्रकरण में विभागीय कर्मचारियों को फसाने का काम किया जा रहा है।

पावर कारपोरेशन के डिविजन तृतीय में कुछ संविदा कर्मचारियों को कम्प्यूटर पर बिजली बिल जमा करने के लिए रखा गया था। इनमें से कुछ संविदा कर्मचारियों ने बिल में लाखों रुपए का घोटाला कर लिया है। इसके लिए इन संविदा कर्मचारियों ने एक्सईएन की आईडी का गलत तरिके से इस्तेमाल किया है। उपभोक्ताओं से बिल के पैसे लिए गए है, लेकिन उन्हें विभाग के खाते में जमा नहीं कराया गया है, वहीं विभाग में उक्त जमाकर्ता उपभोक्ताओं का रिकार्ड भी नहीं है। उपभोक्ताओं को बिजली बिल जमा करने की फर्जी रसीदें दी गई है। कुछ फर्जी रसीद सामने आयी तो यह मामला प्रकाश में आया है। विभाग में इस घोटाले को लेकर हडकम्प मचा हुआ है। एक संविदा कर्मचारी घोटाले को अंजाम देकर फरार हो गया है। वहीं एक संविदा कर्मचारी की पिछले दिनों सड़क दुर्घटना में मौत हो चुकी है। इस पूरे प्रकरण में दोषी संविदा कर्मचारियों को बचाने के लिए रणनीति बनाई जा रही है। उपभोक्ता कार्यालय में आ रहे है और दोषी संविदा कर्मचारियों के खिलाफ एक्सईएन को लिखित मेें शिकायत दे रहे है। कुछ बाहरी व्यक्ति इन शिकायत को खत्म कर सबूत मिटाने में जुटे हुए है। कार्यालय में बाहरी व्यक्ति के हस्तक्षेप से विभागीय कर्मचारी काफी परेशान है। वे इस संबंध मेें एक्सईएन से भी शिकायत कर चुके है, लेकिन बाहरी व्यक्ति के हस्तक्षेप पर एक्सईएन भी मौन है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Attempt to eliminate evidence in electricity bill scam