DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मुजफ्फर नगर › चरथावल में टीबी से ग्रसित पांच बच्चों को लिया गोद
मुजफ्फर नगर

चरथावल में टीबी से ग्रसित पांच बच्चों को लिया गोद

हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फर नगरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 07:35 PM
चरथावल में टीबी से ग्रसित पांच बच्चों को लिया गोद

चरथावल कस्बे में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर सोमवार को टीबी ग्रसित बच्चों को पोषाहार वितरित किया गया। इस अवसर पर 0-18 वर्ष आयु वर्ग तक के पांच बच्चों को बीडीओ सहित कई चिकित्सकों ने गोद लिया। सीएचसी प्रभारी डॉ. सतीश कुमार ने बच्चों को गोद लिए जाने की प्रशंसा की। चरथावल सीएचसी के अंतर्गत आने वाले गांव के क्षय रोग से ग्रसित 18 साल से कम उम्र के बच्चों को टीबी विभाग के कर्मचारियों के सहयोग से बीडीओ तुलसीराम प्रजापति, चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार,पीएचसी प्रभारी बहेड़ी डॉ. आसिफ, फार्मासिस्ट मनोज त्यागी ने टीबी ग्रसित बच्चों को गोद लिया एवं पोषण आहार वितरित किया। इस अवसर पर अमित कुमार त्यागी, सचिन कुमार, प्रमोद कुमार एवं रजनीश कुमार का सहयोग रहा। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. लोकेश चंद गुप्ता ने बताया सूबे की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के आह्वान पर टीबी ग्रसित बच्चों को गोद लेने का कार्यक्त्रम भावनात्मक और सामाजिक सहयोग के लिए शुरू किया गया है। डीटीओ ने कहा राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन प्रधानमंत्री की प्राथमिकता वाला कार्यक्त्रम है। सूबे की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की प्रेरणा से टीबी से ग्रसित बच्चों को गोद लेकर उन्हें भावनात्मक सहयोग प्रदान करने की परंपरा इन बच्चों के लिए बहुत सुखद प्रयास है। सीएचसी प्रभारी डॉ. सतीश कुमार ने बताया टीबी ग्रसित बच्चों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क दवा दी जाती है। समय-समय पर उनकी काउंसलिंग भी की जाती है, जिससे इनके इलाज में किसी भी तरह की बाधा न आए और नियमित रूप से दवा का प्रयोग करते रहें। सरकार की ओर से टीबी के हर मरीज को इलाज के दौरान निक्षय पोषण योजना के तहत उपचार चलने तक प्रतिमाह 500 रुपये दिए जाते हैं। यह धनराशि उनके बैंक खाते में सीधे भेजी जाती है, ताकि वह पौष्टिक आहार का सेवन कर सकें।

संबंधित खबरें