DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मुरादाबाद  ›  वट वृक्ष और शिव पार्वती की पूजा कर मांगी पति की दीर्घायु
मुरादाबाद

वट वृक्ष और शिव पार्वती की पूजा कर मांगी पति की दीर्घायु

हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 09:10 PM
वट वृक्ष और शिव पार्वती की पूजा कर मांगी पति की दीर्घायु

मुरादाबाद में गुरुवार को बड़ साते का पर्व धूमधाम से मनाया गया। स्वागिन महिलाओं ने व्रत रखा। वट वृक्ष ओर भगवान शिव पार्वती की पूजा अर्चना की। बायना मंसा और सास अथवा ननद आदि को देकर आशीर्वाद ग्रहण किया। इसके बाद व्रत को विश्राम दिया।

मान्यता है कि वट अमावस्या को सावित्री ने यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राण वापस लिए थे। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की सप्तमी को वह स्वस्थ हो गए थे। इसीलिए इस सप्तमी को भी सुहागिन महिलाएं अपने पति के स्वरूथ रहने और दीर्घायु की कामना के लिए व्रत रखती हैं। वट वृक्ष का पूजन कर उसके समान अपने पति की आयु और शिव पार्वती की आराधना की पार्वती की तरह शिव के समान पति की कामना कर उनका पूजन करती हैं। आज गुरुवार को सप्तमी होने पर ऐसा ही किया गया। जिनके घरों के पास वट वृक्ष नहीं थे उन्होंने बाजार से टहनी मंगवाकर घर पर ही पूजन किया। जिन के घरों के पास वट वृक्ष रहे उन्होंने वहीं जाकर पूजन किया। घरों पर मिट्टी अथवा आटे के शिव पार्वती बनाए और उनकी आराधना की। बायना मंसा और सास या ननद आदि ससुराल पक्ष की बुजुर्ग महिलाओं को बायना देकर आशीर्वाद लिया। जिनकी सास अथवा ननद उनके घर से दूर थीं। मगर शहर में ही थीं उन्होंने सुबह ही पूजन कर उनके घरों पर जाकर बायना दिया। इसलिए पूजन के बाद सुबह से ही महिलाओं ने सास आदि के पास जाना शुरू कर दिया। वापस आकर भोग ग्रहण कर व्रत को विश्राम दिया।

बाजर में बिकीं टहनी, किया दान

बड़ साते के पूजन के लिए बुधवार की शाम से ही बाजार में वट वृक्ष की टहनियां बिकनी शुरू हो गईं। आज दोपहर तक बिकती रहीं। इनके साथ मिट्टी और आटे के सूखे हुए शिव पार्वती की प्रतिमाएं भी बाजार में बिकती नजर आईं। हालांकि इन्हें घरों में स्वयं महिलाएं ही बनाती हैं। मगर इस बार यह बने बनाए बाजार में बिकते रहे। पूजन के बाद महिलाओं ने सीजन के फल, पंखा, घड़ा आदि भी दान किये।

संबंधित खबरें