DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश मुरादाबादपश्चिमी उत्तर प्रदेश  पसमांदा मुस्लिम समाज का एक दिवसीय  कार्यकर्ता सम्मेलन 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश  पसमांदा मुस्लिम समाज का एक दिवसीय  कार्यकर्ता सम्मेलन 

हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादNewswrap
Sun, 24 Oct 2021 10:00 PM
पश्चिमी उत्तर प्रदेश  पसमांदा मुस्लिम समाज का एक दिवसीय  कार्यकर्ता सम्मेलन 

भोजपुर के बिलारी दोराहे पर रविवार को एक गार्डेन में पसमांदा मुस्लिम समाज का एक दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व राज्य मंत्री अनीस मंसूरी ने शिरकत की। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से अब तक राजनीतिक  दलों में बैठे बड़े मुस्लिम नेता हमारे वोटों से राजनैतिक पार्टियों की सरकारें बनाते रहें। इन नेताओं ने सिर्फ अपने परिवार एंव खानदान के लोगों को ही आगे बढ़ाया और पसमांदा मुसलमानों के हितों को नजर अंदाज करते रहे। इसका परिणाम यह हुआ कि हमारी स्थिति दलितों से भी बदतर हो गई। उत्तर प्रदेश में खेती के बाद सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला पसमांदा मुसलमानों का कुटीर उद्योग अब कराह रहा है, लेकिन सरकारों को यह कराह नहीं सुनाई पड़ रही है। जब से देश में भाजपा (डबल इन्जन) की सरकार बनी है, अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का शोषण हो रहा है। पसमांदा मुस्लिम समाज देश के पिछड़ी जातियों, अनुसूचित जातियों व अनुसूचित जनजातियों  के साथ साझेदारी चाहता है तथा मुसलमानों की आबादी का 85 प्रतिशत  पसमांदा मुसलमान अपनी सियासी भागीदारी की मांग करता है।  शकील मंसूरी ने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में पसमांदा मुस्लिम समाज को सम्मान देने वाली सेक्युलर पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनवायेगा।

 वसीम राईनी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अनीस मंसूरी को प्रदेश का पसमांदा मुस्लिम समाज पूरी ताकत के साथ इनके आह्वान पर संघर्ष करेगा और आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में  उनके निर्देश पर मतदान कर अपने हित की सरकार बनवायेगा। सम्मेलन में जनाब महबूब आलम लारी अंसारी साहब, मुख्तियार मंसूरी, हाजी अंजुम अली एडवोकेट, जमीर अहमद खां,  नौशे खाँ मेवाती, प्रदेश सचिव  मोहम्मद शाहिद कस्सार साहब, इंजीनियर शमीम अंसारी, डॉ. जमील अहमद मंसूरी, शाहिद मंसूरी, रियाज अहमद मंसूरी,  अंसार अहमद शेख अल्वी, आरिश राईनी ने भी सम्बोधित किया।  इस अवसर पर  हाजी खुर्शीद मंसूरी, उवैस इकबाल, अलीगढ़, साबिर प्रधान, हाजी जबरी खाँ, हाजी जमालुद्दीन, हाजी गनी मोहम्मद, इरशाद हुसैन मंसूरी, रेशम अली,अकरम मंसूरी, हाजी अनीस मंसूरी, खलील अहमद आदि मौजूद रहे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें