DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेतों से बिजली लाइन निकालने पर भड़के ग्रामीण

खेतों से बिजली लाइन निकालने पर भड़के ग्रामीण

खेतों में बिजली लाइन खींचे जाने का विरोध करने पर खेत मालिकों के साथ मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया। इससे नाराज होकर दर्जनों ग्रामीणों ने तहसील में जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने खींची जा रही लाइन पर तत्काल रोक लगाने की मांग उठाई। एसडीएम ने विभागीय अधिकारियों को तत्काल लाइन खींचने के निर्देश दिए। सीओ ने भी पीड़ितों को सहायता का आश्वासन दिया है। ग्राम किशनपुर के जंगल से पड़ोस के गांव को 11 हजार वोल्टेज की लाइन खींची जा रही है। यह लाइन कई किसानों के खेतों से निकाली जा रही है। इस पर ग्रामीणों ने आपत्ति जताई है। ग्रामीणों ने कहा लाइन खींचे जाने से उनकी जान माल व फसल को नुकसान हो सकता है। यह लाइन शोबाला फरीदपुर जिला अमरोहा को जानी है। आरोप है कि जब इस लाइन का नक्शा व एस्टीमेट ग्राम किशनपुर को बाशिंदों ने मांगा तो उनके साथ मारपीट की। इसमें चंद्रपाल की मां कांति देवी व अन्य महिलाओं को पीटा गया। इससे कांति देवी की टांग भी टूट गई। इतना ही नहीं वहां जबरन बिजली पोल गाड़ दिए गए। ग्रामवासियों ने पुलिस की सौ नंबर पर डायल किया। पुलिस मौके पर पहुंची परंतु उसने भी आरोपियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया। इसी को लेकर दर्जनों ग्रामीणों खेम सिंह, जय प्रकाश रमेश सिंह, धर्म सिंह, परम सिंह, ओमप्रकाश, अर्जुन, राजेंद्र सिंह, जयपाल सिंह, लल्लू सिंह, धर्मवीर, खंचेडू, कमला, रामवती, लीलावती, रिंकू, सुनीता, राजेश सिंह, पनवेशरी आदि ने तहसील में जोरदार प्रदर्शन किया तथा खींची जा रही लाइन को अविलंब रुकवाने की गुहार एसडीएम मायाशंकर यादव से की। एसडीएम मायाशंकर यादव व सीओ ने तत्काल बिजली अधिकारियों को लाइन न खींचने के निर्देश दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers are in anger for the electricity lines from the fields