DA Image
30 नवंबर, 2020|4:45|IST

अगली स्टोरी

दहेजहत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी को कोतवाली में हंगामा

default image

ठाकुरद्वारा। हिन्दुस्तान संवाद

चार दिन पहले दर्ज हुए दहेज हत्या के मुकदमें में फरार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर महिला के परिजनों ने रविवार को ठाकुरद्वारा कोतवाली में हंगामा किया। इसके बाद बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने पूर्व ब्लाक प्रमुख मुजाहिद अली का घेराव किया। जहां उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर काशीपुर-मुरादाबाद हाईवे पर जाम लगाने की चेतावनी दी। पूर्व ब्लाक प्रमुख ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया। साथ ही पुलिस को दो दिन का समय दिया है। कहा कि दो दिन में पुलिस ने फरार आरोपियों को नहीं पकड़ा तो वे ग्रामीणों सहित सीओ कार्यालय में भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

डिलारी के गांव शुमाल खेड़ा निवासी अहमद हसन ने अपनी बेटी शाइस्ता का आठ महीने पहले भोजपुर के मोहल्ला घासमंडी निवासी जुबेर पुत्र मेहंदी हसन के साथ निकाह किया था। आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग निकाह में मिले दान दहेज से खुश नहीं थे। इसको लेकर कई बार विवाद की स्थित बनी। इस दौरान लोगों ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया। बीते 29 अक्टूबर को ससुराल में ही शाइस्ता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पति सहित तीन लोगों के खिलाफ दहेजहत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने पति को तो गिरफ्तार कर लिया, लेकिन अभी अन्य दो आरोपी पकड़ से बाहर हैं। इसे लेकर रविवार को शाइस्ता के परिजन कोतवाली पहुंचे। जहां उन्होंने पुलिस के खिलाफ हंगामा किया। इस दौरान परिजनों ने पुलिस को काशीपुर-मुरादाबाद हाईवे पर जाम लगाने की चेतावनी दी। इसके बाद परिजन पूर्व ब्लाक प्रमुख मुजाहिद अली के घर पहुंच गए। जहां उन्होंने उनका भी घेराव कर लिया। इस दौरान पूर्व प्रमुख ने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत किया। साथ ही दो दिन में अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होने पर सीओ कार्यालय पर भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी। इस दौरान अहमद हसन, ग्राम प्रधान खुर्शीद अली, मेहंदी हसन, आबिद अली, खलील अहमद, इरफान, यामीन हसन, मुशाहिद अली, महजहां परवीन कलसूम, हिना और शायदा रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uproar in Kotwali for arrest of dowry accused