DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक कर्मचारियों की दो दिन की हड़ताल से कामकाज ठप, खाताधारक परेशान

बैंक कर्मचारियों की दो दिन की हड़ताल से कामकाज ठप, खाताधारक परेशान

1 / 2बैंक एम्पलाइज यूनियन की हड़ताल की पूर्व घोषित दो दिवसीय हड़ताल के पहले दिन बुधवार को मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा, संभल जनपद की सभी बैंक शाखाओं पर ताले लटके रहे। कर्मचारी नदारत रहे और कामकाज पूरी तरह से...

बैंक कर्मचारियों की दो दिन की हड़ताल से कामकाज ठप, खाताधारक परेशान

2 / 2बैंक एम्पलाइज यूनियन की हड़ताल की पूर्व घोषित दो दिवसीय हड़ताल के पहले दिन बुधवार को मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा, संभल जनपद की सभी बैंक शाखाओं पर ताले लटके रहे। कर्मचारी नदारत रहे और कामकाज पूरी तरह से...

PreviousNext

बैंक एम्पलाइज यूनियन की हड़ताल की पूर्व घोषित दो दिवसीय हड़ताल के पहले दिन बुधवार को मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा, संभल जनपद की सभी बैंक शाखाओं पर ताले लटके रहे। कर्मचारी नदारत रहे और कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। इसके चलते बैंक खाताधारकों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

बैंक एम्पलाइज यूनियन के आह्वान पर बैंक कर्मचारियों की देशव्यापी हड़ताल का मुरादाबाद मंडल में भी व्यापक असर दिखाई दिया। मंडल के मुरादाबाद, अमरोहा, रामपुर और संभल की सभी बैंक शाखाएं बंद रहीं और कोई भी कामकाज नहीं हुआ। वेतन बढ़ोत्तरी समेत अन्य मांगों को लेकर पूर्व घोषित हड़ताल पर कर्मचारियों के चले जाने से सुबह से ही बैंक नहीं खुले। इस कारण बैंक पहुंचने वाले ग्राहकों को बैरंग ही लौटना पड़ा।

हड़ताल के पहले ही एटीएम नो कैश हुए

बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल के पहले ही दिन एटीएम नो कैश होने लगे हैं। इसके चलते उपभोक्ताओं को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। तमाम एटीएम पहले ही दिन धोखा देने लगे। कुछ आउट आफ सर्विस हो गए और कुछ नो कैश हो गए। इसका खामियाजा ग्राहकों को उठाना पड़ रहा है। मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा, संभल जनपद के कई हिस्सों में एटीएम कार्डधारक कैश की तलाश में एक एटीएम से दूसरे एटीएम के लिए भटकते देखे गए।

सरकार के खाते में बैंक वालों के दस हजार करोड़ रुपए

मुरादाबाद। बैंकों की हड़ताल से पब्लिक को परेशानी हुई है तो हड़ताली बैंक कर्मचारियों को इसकी वजह से वेतन का झटका लगेगा। दो दिन की हड़ताल में उन्हें वेतन नहीं मिलेगा। देशभर में सरकारी बैंकों में दस लाख के करीब कर्मचारी कार्यरत हैं। एक दिन का वेतन नहीं मिलने से सरकार के खाते में पांच हजार करोड़ रुपए जमा रहेंगे। दो दिन की हड़ताल के चलते कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने पर उनके वेतन के रूप में दी जाने वाली दस हजार करोड़ रुपए की धनराशि सरकार के पास अवशेष के रूप में इकट्ठा हो जाएगी। बैंक कर्मचारियों ने प्रदर्शन करते हुए कहा कि हड़ताल करने से उन्हें वेतन का भी झटका लगता है। लेकिन, विरोध नहीं करने पर उन्हें बहुत ही कम वेतन वृद्धि पर संतोष करना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two-day strike of bank employees stalled work, account holders bothered