DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हापुड़ स्टेशन और करैंगी यार्ड में रेल फ्रैक्चर, दस ट्रेनें लेट

झमाझम बरसात के बीच दो स्थानों पर रेल फ्रैक्चर ने दस ट्रेनों का संचालन ठप कर दिया। हापुड़-पिलखुआ के बीच पटरी टूटने से सेक्शन में ट्रेनों का जाम लग गया। साथ ही करैंगी यार्ड में भी रेल पटरी टूटने से ट्रेनें रोकी गईं। मेन लाइन में रेल फ्रैक्चर से अफसरों की सांसे अटकी रही।

सुबह 7:55 बजे हापुड़ के पास अप लाइन में रेल फ्रैक्चर मिला। कंट्रोल रूम से इसकी जानकारी मिलने के बाद सिविल इंजीनियरिंग, सिग्नल और बिजली विभाग की टीम मौके पर दौड़ी। लेकिन प्रयास के बाद भी समय से रूट बहाल नहीं हो पाया। इस दौरान ट्रेनों का जाम लग गया। दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों के यात्री हंगामा करने लगे। सुबह आठ बजकर बीस मिनट के बाद इंजीनियरिंग स्टाफ ने पटरी जोड़ने का काम शुरू किया। इसके बाद कुछ ट्रेनों को बीस किमी और उसके बाद तीस किमी प्रति घंटे की गति से चलाया गया। देर की वजह से हापुड़ से पिलखुआ के बीच ट्रेनों की कतार लग गई। इस दौरान राजधानी, महामना एक्सप्रेस, फैजाबाद दिल्ली, पद्मावत, छपरा आनंद विहार स्पेशल,सत्याग्रह, सप्तक्रांति, अर्चना, इंटरसिटी, नौचंदी, पुरी सुपरफास्ट और आला हजरत खड़ी रही। सभी दस ट्रेनें पचास मिनट से सवा घंटे खड़ी रहीं। सुबह पौने नौ बजे करेंगी यार्ड में रेल पटरी टूटी मिली। इस पटरी को ठीक करने में रेलवे ने काफी देर कर दी। एक नंबर लाइन को दिन के एक बजकर दस मिनट फिट किया जा सका सुबह पौने नौ बजे करैंगी यार्ड में रेल पटरी टूटी मिली। इस पटरी को ठीक करने में रेलवे ने काफी देर कर दी। एक नंबर लाइन को दिन के एक बजकर दस मिनट फिट किया जा सका

हकीमपुर में अवध-असम का कोच जाम, घंटे भर बाद चली

मुरादाबाद। रविवार को मुरादाबाद गाजियाबाद सेक्शन में ट्रेनों का संचालन ठप होने का सिलसिला जारी रहा। सुबह साढ़े ग्यारह बजे हकीमपुर के पास अवध- असम एक्सप्रेस का ब्लाक जाम हो गया। इससे ट्रेन खड़ी हो गईं। जबकि इस ट्रेन के पीछे चल रही राजधानी एक्सप्रेस भी इस वजह से पौन घंटे रोकनी पड़ी। अवध असम के स्लीपर कोच के ब्लाक जाम होने की वजह से ट्रेन अचानक खड़ी हो गई। इसके बाद चालक और गार्ड ने ब्रेक रिलीज किया। इस बीच गाड़ी एक घंटे और राजधानी 45 मिनट रुकी रही।

बांगरमऊ स्टेशन के पास रेल पटरी पर गिरा पेड़

मुरादाबाद। रविवार को देहरादून सेक्शन में रेल लाइन पर पेड़ गिरने से महकमा में हड़कंप मच गई। सुबह पौने नौ बजे हवा का झोका नहीं रोकने की वजह से बांगरमऊ स्टेशन के पास रेल लाइन पेड़ की टहनी से ढ़क गया। इसके बाद कंट्रोल रूम ने सिविल इंजीनियरिंग की टीम को मौके पर भेजा। पौन घंटे बाद रूट बहाल हो पाया। संयोग से इस बीच देहरादून लाइन के लिए कोई ट्रेन नहीं थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Trains Late due to rail fracrure