DA Image
20 जनवरी, 2020|5:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्यन का सपना सचिन की तरह लगाएं रनों का अंबार

आर्यन का सपना सचिन की तरह लगाएं रनों का अंबार

एक के बाद एक नई बुलंदियों को छूने वाले जूनियर इंडिया टीम के कप्तान और मुरादाबाद की पहचान बन चुके आर्यन जुयाल का सपना सचिन के तरह रनों का अंबार लगाना है। कहा कि अपने सपने को पूरा करने में लगे हैं, कहीं कमी लगेगी तो उसको दूर करने का प्रयास करूंगा।

हिन्दुस्तान से बातचीत में यह बात जूनियर इंडिया टीम के कप्तान आर्यन जुयाल ने की। कहा कि वैसे खेल में सचिन उनके आदर्श हैं लेकिन राहुल द्रविड़, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ऐसे नाम हैं जिनको क्रिकेट से अलग नहीं किया जा सकता। जहां खेल के मैदान में द्रविड़ का अनुशासन देखने लायक है तो वहीं धोनी का बड़े मैचों में कूल रहना। विराट का एगरेशन नए खिलाड़ियों के लिए प्रेरणादायक हैं।

अपने खेल को बेहतर करने को क्या करते हैं?

व्यायाम से बढ़िया कुछ नहीं। शरीर निरोग रहेगा तो खेल हो या काम ,हर में सफलता मिलेगी। अपने को फिट रखने के लिए क्या करते हैं तो बोले जिम,एक्सरसाइज की जगह उनको मेडीटेशन पसंद है और उसी के मदद से अपने को फिट रखता हैं।

--------

नई जिम्मेदारियों के साथ खेलना होगा चुनौतीपूर्ण

बतौर कप्तान फोकस टीम केओवर आल प्रदर्शन पर

टीम हर क्षेत्र में बेहतर करेगी तभी मिलेगी कामयाबी

11जुलाई से11अगस्त तक टीम का हैश्रीलंका दौरा

मुरादाबाद। वरिष्ठ संवाददाता

श्रीलंका दौरे के लिए जूनियर इंडिया टीम के कप्तान बने आर्यन जुयाल अपने को साबित करने में जुट गए है। नई जिम्मेदारी संभालते ही खेल के साथ बातचीत सब में बदलाव नजर आया। दौरे से पूर्व तैयारियों को लेकर जब उनसे बात की तो उन्होंने कहा कि किसी एक खिलाड़ी के दम पर कोई टीम मैच में नहीं टिक सकती। ओवरआल प्रदर्शन के दम पर बाजी जीती जाती है। उनकी टीम श्रीलंका में अपना शत प्रतिशत देने का जान लगा देगी।

मंगलवार को दिल्ली रवाना होने से पूर्व आर्यन जुयाल कांठ रोड स्थित नोसगे पब्लिक स्कूल पहुंचे। स्कूल प्रबंधक नीरज गुप्ता और परिजनों से मुलाकात बाद मीडिया से पहुंचे लोगों के सवालों के जवाब भी दिए। श्रीलंका दौरे पर बोले ग्यारह जुलाई से ग्यारह अगस्त का टूर है। बतौर कप्तान कैसा लग रहा है। नई जिम्मेदारी है, जिसको संभालना है। श्रीलंका और भारत की पिच में कोई खास अंतर नहीं है, इसलिए खेलने में दिक्कत नहीं आएगी।

बैटिंग में निखार को 30 से 40ओवर प्रैक्टिस

मुरादाबाद। बैटिंग में निखार को हर दिन तीस से चालीस ओवर बैटिंग करते हैं। यह नियमित काम है,जहां भी जाते हैं वहां इस प्रैक्टिस को नहीं छोड़ते।

इनसेट:

उत्तराखंड के खिलाड़ियों को मिला तोहफा

उत्तराखंड टीम को रणजी ट्राफी खेलने की हरी झंडी मिलने पर आर्यन जुयाल बहुत खुश दिखे। कहा कि इस कदम से उत्तराखंड के खिलाड़ियों में भी नई जान आएगी और आने वाले समय में उत्तराखंड के खिलाड़ी भी इंडिया टीम में जगह बनाएंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: The dream of Aryan is to play like Sachin