DA Image
5 अगस्त, 2020|10:42|IST

अगली स्टोरी

चारे की बुग्गी को लेकर दो पक्षों में पथराव, फायरिंग

default image

मुगलपुरा थाना क्षेत्र के लालबाग में गुरुवार सुबह खेत में बुग्गी घुसने की वजह से विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा की दो पक्षों में जमकर मारपीट और पथराव हुआ। जिसमें एक पक्ष के चार लोग घायल हो गए। आरोप है कि मारपीट के दौरान फायरिंग भी की गई है। मुगलपुरा और नागफनी थाने की फोर्स मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। पुलिस के पहुंचने पर हमलावर फरार हो गए। पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया। मामले में एक पक्ष की तहरीर पर पंद्रह नामजद समेत 23 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मुगलपुरा थाना क्षेत्र के लालबाग पुलिस चौकी के पास रहने वाला असलम गुरुवार सुबह रामगंगा पार भोजपुर थाना क्षेत्र स्थित खेत पर चारा लेने गया था। उसी के खेत के बगल में लालबाग के ही भूरा का खेत है। असलम चारा बुग्गी में लादकर बुग्गी को भूरा के खेत से लेकर चला गया। इसी बात को लेकर वहां दोनों में मारपीट हो गई। उस समय खेतों में काम कर रहे अन्य किसानों ने दोनों को शांत करा दिया। इसके बाद सुबह करीब 10.30 बजे दोनों अपने घर आए तो दोनों के परिवार आमने-सामने आ गए। बताया जा रहा है कि कहासुनी के दौरान ही भूरा पक्ष के लोगों ने असलम पक्ष के ऊपर पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान फायरिंग भी की गई। हमले में असलम पक्ष के मुराद अली, असलम, वसीम और अरकम समेत चार लोग घायल हो गए। पथराव और मारपीट से मोहल्ले में अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर मुगलपुरा और नागफनी थाने की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस के पहुंचने से हपले हमला करने वाले आरेापी भाग निकले। बताया कि पुलिस ने दबिश देकर एक आरोपी नवाब को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है। मुगलपुरा एसएचओ देवेंद्र सिंह ने बताया कि मामले में असलम की तहरीर पर आरोपी भूरा, सलीम, नन्हें, काले, बन्ने, अब्दुल कलाम, सिराज, अब्दुल करीम, महबूब समेत पंद्रह नामजद और आठ अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

आरएएफ ने सीओ के साथ किया फ्लैग मार्च

मुरादाबाद। नवाबपुरा में बवाल की सूचना पर थोड़ी ही देर में सीओ कोतवाली राजेश कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। आरएएफ भी वहां तैनात कर दी गई। तनाव को देखते हुए सीओ ने आरएएफ के साथ क्षेत्र में फ्लैग मार्च का सख्ती का संदेश दिया। पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को आगाह किया कि माहौल खराब करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

नवाबपुरा घटना के सबक का दिखा असर

मुरादाबाद। लालबाग में हुए बवाल के दौरान पुलिस फोर्स बहुत सतर्क नजर आई। पुलिस की कार्यशैली से लगा कि नवाबपुरा बवाल के बाद पुलिस ने कुछ सबक जरूर लिया है। दरअसल नवाबपुरा में 15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग की टीम कुछ लोगों को क्वारंटाइन कराने गई थी। वहां लोगों ने स्वास्थ्य विभाग और पुलिस टीम पर हमला बोल दिया था। उस घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश दे रही थी तो दोबरा पुलिस पर पथराव हुआ है। उसको लेकर पुलिस की सतर्कता पर सवाल उठे थे। उस घटना का सबक यह रहा कि लालबाग में पुलिस ने आरएएफ जवानों को तत्काल मौके पर बुला लिया। आरएएफ के साथ पुलिस ने घरों में आरोपियों की तलाश के लिए दबिश दी। फिलहाल मोहल्ले में तनाव को देखते हुए आरएएफ और पुलिस फोर्स तैनात है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Stoning firing on two sides of fodder buggy