अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं मिले सुबूत, जेल नहीं जाएगा बेटे का नामजद हत्यारोपी

नहीं मिले सुबूत, जेल नहीं जाएगा बेटे का नामजद हत्यारोपी

अमरोहा। हिन्दुस्तान लाइव

अमरोहा के बछरायूं थाना कस्बे में जमीनी विवाद को लेकर बेटे की हत्या में नामजद पिता जेल नहीं जाएगा। पुलिस का कहना है कि वृद्ध अपने छोटे बेटे की हत्या में शामिल नहीं था। हत्यारोपी बेटों की पैरवी न करे, इसलिए उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई। बछरायूं थाना कस्बे के मोहल्ला बकाबाद में तीन सितंबर की रात जमीनी रंजिश के चलते राजेंद्र की गोली मार कर हत्या कर दी। हत्या में भाई संजीव, राजीव, पिता देवी दयाल, बिजनौर के तख्तपुर निवासी विक्की उर्फ विवेक व एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। राजीव व संजीव को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जबकि विवेक, एक अज्ञात और पिता फरार हैं। पुलिस का कहना है कि बेटे की हत्या में नामजद किया गया पिता देवी दयाल जेल नहीं जाएगा। क्योंकि वह बेटे की हत्या में शामिल नहीं था। पुलिस उसकी उम्र का भी हवाला दे रही है। वह 78 वर्षीय है। शरीर से बेहद कमजोर है। उसे दिखता भी नहीं है। मृतक की पत्नी ने इस आशंका के चलते उसे नामजद किया था कि कहीं दोनों बेटों राजीव व संजीव को छुड़ाने के लिए पैरवी न करे। वृद्ध भी जेल चला जाएगा तो कोई भी हत्यारोपियों की पैरवी करने वाला नहीं बचेगा। यही सोच कर उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। थाना प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार का कहना है कि जांच पड़ताल में देवी दयाल बेटे की हत्या में लिप्त नहीं पाया गया। जिसके चलते उसे जेल नहीं भेजा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Son s nominated murderer Devi Dayal will not go to jail