DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मुरादाबाद  ›  मुरादाबाद में मेट बनकर मजूदरों के कामों की निगरानी करेगी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं
मुरादाबाद

मुरादाबाद में मेट बनकर मजूदरों के कामों की निगरानी करेगी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं

हिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 12:20 PM
मुरादाबाद में मेट बनकर मजूदरों के कामों की निगरानी करेगी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं

मुरादाबाद। वरिष्ठ संवाददाता

मनरेगा मजदूरों के काम की निगरानी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मेट बनकर निभाएगी। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को अधिक से अधिक रोजगार देकर आगे बढ़ाना के लिए सरकार ने जिले के तमाम स्वयं सहायता समूह से 411 महिलाओं का चयन किया है, जिनको 480 ग्राम पंचायतों में लगे साढ़े 26 सौ मजदूर की निगरानी के लिए तैनात किया जा रहा है । कुछ ब्लाक की ग्राम पंचायत में मेट की तैनाती का काम शुरू भी हो गया है।

हर साल विभाग मनरेगा के तहत होने वाले कामों में हजारों मजदूरों को रोजगार देता हैं इतनी बड़ी संख्या में काम में काफी बार सही से काम की निगरानी न होने से योजना को पूरा कराने में दिक्कत आ जाती है। ऐसे में शासन के निर्देश पर इस बार ग्र्राम्य विकास विभाग के तहत मनरेगा के चल रहे कामों में मजदूरों की निगरानी को स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बतौर मेट के रूप में तैनात किया जा रहा है। बीस मजदूरों पर एक मेट की तैनाती की जा रही है। ओवर आल सुपरविजन उस ग्राम पंचायत के रोजगार सेवक का होगा। शासन की मंशा के अनुरूप विभाग ने जिले की तमाम स्वयं सहायता समूह में से 411 महिलाओं को चुना है,जिनको विभाग की ओर से 480 ग्राम पंचायत में काम में लगे साढ़े 26 हजार मजदूरों पर शासन की गाइड लाइन के हिसाब से बतौर मेट निगरानी को तैनात किया जा रहा है, कुछ जगह मेट की तैनाती हो गई है। अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि शासन की ओर मनरेगा के मजूदरों के काम की निगरानी के लिए स्वयं सहायता समूह की महिला या फिर दिव्यांग शख्स को वरीयता दी जाती है जिससे उनका जीवन यापन ठीक तरीके से होने लगे।

संबंधित खबरें