DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्तर दिन में पौने दो हजार करोड़ चुकाएंगी चीनी मिलें

सत्तर दिन में पौने दो हजार करोड़ चुकाएंगी चीनी मिलें

मुरादाबाद मंडल समेत पूरे यूपी में चीनी मिलें किसानों का भुगतान अगस्त तक कर देंगी। मुख्यमंत्री ने लखनऊ में आयोजित बैठक में डेड लाइन तय की तो खलबली मच गई। मंडल में यहां 1745 हजार करोड़ रुपए किसानों का गन्ना भुगतान नहीं हुआ है।सबसे ज्यादा बिजनौर में इसके बाद मुरादाबाद जिले का बकाया है। अगस्त तक भुगतान करवाना अफसरों के लिए चुनौती है।

मुरादाबाद मंडल में किसानों का 1745 करोड़ बकाया है। जिला गन्ना अधिकारी मुरादाबाद ने मुख्यमंत्री के तेवर के बाद तत्काल एक्शन में आकर अगवानपुर चीनी मिल पहुंच कर स्टाक चेक किया। डा. सुभाष यादव ने कहा पहले भुगतान होगा। अगस्त तक भुगतान के फरमान के क्रम में मिलवार भुगतान का दबाव बढ़ गया है। कुछ चीनी मिलों की स्थिति ज्यादा खराब है। ऐसी पांच मिलों को चिन्हत किया गया है। इसमें बिजनौर और मुरादाबाद प्रमुख हैं। बिजनौर जिले में अब तक 72 फीसदी भुगतान हो चुका है। 901 करोड़ रुपए अभी भी बकाया है। अमरोहा में 80 प्रतिशत भुगतान किया गया। अभी भी 168 करोड़ का किसानों का बकाया है। संभल ने 81 फीसदी भुगतान किया है बकाया 183 करोड़ है। रामपुर में 126 करोड़ रुपए की बकाएदारी है। यहां 75 फीसदी भुगतान हो चुका है। मुरादाबाद सबसे फिसड्डी है यहां 350 करोड़ रुपए किसानों का बकाया है। अब तक मुरादाबाद जिले की चार चीनी मिलों ने 63 फीसदी भुगतान किया है।

शासन का जो फरमान है अगस्त तक भुगतान करवाया जाएगा। मैंने बैठक के बाद ही तत्काल अगवानपुर चीनी मिल में स्टाक चेक किया है। मुरादबाद की मिलों पर साढ़े तीन सौ करोड़ बकाया है। भुगतान तय समय में होगा।

डा. सुभाष यादव, जिला गन्ना अधिकारी मुरादाबाद

गन्ना बकाए की जिलावार स्थिति

जिला बकाया

बिजनौर 901

अमरोहा 168

मुरादाबाद 350

संभल 183

रामपुर 126

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: sattar din mein paune do hajaar karod chukaengee cheenee milen Did you mean 52 5000 Sugar mills to repay two thousand crores in seventeen days