DA Image
8 अगस्त, 2020|5:53|IST

अगली स्टोरी

सेवा विवरण अपलोड न होने पर रुकेगा वेतन

default image

अशासकीय महाविद्यालयों में शिक्षकों और कर्मचारियों का सेवा विवरण अपलोड करने के साथ वेतन आहरण पर लगी रोक के आदेश को हटाने की मांग को लेकर रूटा ने उच्च शिक्षा निदेशक को पत्र लिखा है। हिन्दू कॉलेज के एसोसिएट प्रो. और रूटा के अध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि 20 जुलाई तक सभी शिक्षकों और कर्मचारियों का मानव संपदा पोर्टल पर सेवा विवरण अपलोड नहीं होने की दशा में जुलाई 2020 का वेतन आहरित करने पर रोक लगाने की बात कही गई है। डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि सेवा विवरण को अपलोड करने का कार्य महाविद्यालय की ओर से किया जाना है। शिक्षकों का इससे कोई संबंध नहीं है। शिक्षकों का सेवा विवरण कॉलेज में सुरक्षित होने के साथ ही मांगी गई अन्य सूचनाएं भी कॉलेज को उपलब्ध करा दी गई है। तकनीकी परेशानियों के चलते अपलोडिंग में विलंब हो रहा है। सप्ताह में दो दिन लॉकडाउन भी रहता है। अपलोडिंग में हो रहे विलंब पर वेतन आहरण पर रोक लगाना अव्यवहारिक है। 31 जुलाई से पहले वेतन भुगतान की मांग की गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Salary will stop when service details are not uploaded