Respect for the sadhana of the younger soul - नन्हे सुरों की साधना को मिला सम्मान DA Image
16 दिसंबर, 2019|5:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नन्हे सुरों की साधना को मिला सम्मान

नन्हे सुरों की साधना को मिला सम्मान

संवेदना संगीत अकादमी का आरंभ सुरों के साथ किया गया। अवंतिका कॉलोनी स्थित संस्थान में नन्हे सुरों को शिक्षा के साथ ही सांगीतिक विधा में आगे बढ़ाने के उद्देश्य से संस्थान की शुरुआत की गई।

कार्यक्रम में शहर की सांगीतिक विधा के वरिष्ठ कलाकारों में बृजगोपाल व्यास, बालसुंदरी तिवारी, राधेश्याम आदि शामिल रहे। संस्थान की निदेशक डॉ मीनू मेहरोत्रा ने कहा कि हमारा शास्त्रीय संगीत हमें हमारी संस्कृति और परंपराओं के नजदीक करता है। इस तरह संगीत अकादमी एक तरह से नई पौध में संगीत के साथ ही संस्कारों का बीजारोपण व संस्कृति से नजदीकी बनाने का माध्यम भी बनेगी। कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाले बच्चों के साथ ही आमंत्रित अतिथियों व संगीत कलाकारों को प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर शशि शर्मा, डॉ पूनम बंसल, डॉ रीना मित्तल, डॉ मीना कौल, डॉ आनंद सिंह, डॉ कमलेश शर्मा आदि उपस्थित रहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Respect for the sadhana of the younger soul