DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामगंगा तटबंध पर मॉडल स्टडीज पर मंथन शुरू

बाढ़ का खतरा बनी रामगंगा नदी पर तटबंध प्रोजेक्ट एक कदम खिसका है। कोर्ट के दखल के बाद तटबंध को लेकर रुड़की के सिंचाई अनुसंधान संस्थान ने सर्वे रिपोर्ट पर मंथन शुरू कर दिया है। प्रोजेक्ट के लिए कानपुर आईआईटी ने तटबंध पर सर्वे रिपोर्ट मिल गई है। हालांकि हाईकोर्ट के आदेश के बाद तटबंध पर शासन की चाल तेज होने के आसार है।

आठ साल पहले रामगंगा में आई बाढ़ ने तबाही मची थी। बाढ़ ने नदी किनारे सटी कई पॉश आवासीय कालोनियों को लील लिया। सैकड़ों मकानों में पानी भर गया। हालात यह कि नाव, ट्रेक्टर के सहारे जिंदगी बचाई जा सकीं। बाढ़ का कहर दोबारा न हो, इसके लिए तभी से तटबंध का प्रस्ताव है। पर तमाम कोशिशों के बाद भी तटबंध पर शासन स्तर पर ठोस नतीजे नहीं निकले। तटबंध निर्माण को संघर्ष कर रही समिति ने हाईकोर्ट में याचिका की। कोर्ट ने मामले में सरकार को कड़े निर्देश दिए। कोर्ट के दखल से तटबंध पर तेजी आई है। प्रमुख सचिव सिंचाई ने सर्वे कराकर मॉडल स्टडीज कराने के निर्देश दिए। सरकार के आदेश पर अब अमल हुआ है। आईआईटी कानपुर ने तटबंध सर्वे की रिपोर्ट तैयार की है। रिपोर्ट के आधार पर मॉडल स्टडीज पर मंथन होगा। सरकार ने इसके लिए पहले दस लाख और 25 लाख रुपये की धनराशि आवंटित की। जानकारों के अनुसार तटबंध की सर्वे रिपोर्ट पर मॉडल स्टडीज पर मंथन का काम शुरू हो गया है। उत्तराचंल के रुड़की आईआईआर ने तटबंध के मॉडल स्टडीज पर मंथन शुरू कर दिया है।

बाढ़ खंड के अधिशासी अभियंता सुभाष चन्द्र ने बताया कि कानपुर से सर्वे रिपोर्ट मिलने के बाद मॉडल स्टडीज का काम शुरू हो गया है।

--

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Ramganga embankment churning on Model Studies