DA Image
1 जुलाई, 2020|6:42|IST

अगली स्टोरी

बिना लक्षण वाले मरीज अधिक, लेकिन, लक्षण वालों में बढ़ा खतरा

default image

एक तरफ, कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते नए मामलों और दूसरी तरफ, लक्षण वाले मरीजों की सेहत पर संक्रमण के बढ़ते खतरे ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों और कोविड अस्पताल के चिकित्सकों को चिंतित कर दिया है। कोरोना के संक्रमितों में बिना लक्षण वाले लोगों की संख्या अधिक होने के बावजूद संक्रमण के चलते मरीजों की जिंदगी पर बढ़ते खतरे के नए ट्रेंड ने कोरोना योद्धाओं की चुनौती को बढ़ा दिया है। मुरादाबाद जिले में कोरोना के ऐसे सक्रिय संक्रमितों की संख्या सौ के करीब पहुंच गई है जिनमें किसी प्रकार का कोई लक्षण नहीं है। यह संख्या धीरे धीरे करके बढ़ भी रही है, लेकिन, जो गिनती के लक्षण वाले कोरोना संक्रमित मरीज हैं उनकी हालत तेजी से गंभीर होने और फिर उनके दम तोड़ देने के मामले बढ़े हैं। टीएमयू कोविड अस्पताल के नोडल अधिकारी डॉ.वीके सिंह ने बताया कि लक्षण वाले कोरोना संक्रमितों की हालत तेजी से बिगड़ने का ट्रेंड सामने आ रहा है। हालांकि, इनमें से भी स्वस्थ हो रहे मरीजों की संख्या अच्छी है, लेकिन, सर्वोत्तम इलाज के बावजूद कुछ मरीजों की हालत एकाएक काफी खराब हो जाने की स्थिति देखी जा रही है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.मिलिंद चंद्र गर्ग ने कहा कि कोरोना संक्रमण की जद में आए सभी मरीजों को अपना हौसला बनाए रखने की भी सख्त जरूरत है इसके मद्देनजर चिकित्सा स्टाफ इसमें अपनी पूरी सहभागिता निभा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Patients without symptoms are more but those with symptoms are at increased risk